Loading...

GWALIOR NEWS | मनोरमा गुप्ता: पटरी के पास आई, रोने लगी, फिर ट्रेन के सामने कूद गईं, मौत

ग्वालियर। पारिवारिक क्लेश के चलते आज एक महिला आत्महत्या करने के इरादे से रेलवे ट्रैक पर जा पहुंची और ट्रैक पर खड़े होकर कुछ देर रोई भी थी, उसके बाद ट्रेन को सामने से आता देख छलांग लगाकर अपनी जीवनलाला समाप्त कर डाली। 

घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंचे आरपीएफ के जवानों ने रेलवे ट्रेक से महिला के शव को अपने कब्ज में लेकर परिजनों के साथ संबंधित थाना नूराबाद पुलिस को जानकारी दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने उसको पीएम के लिए डैड हाउस भेज कर मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है। महिला नूराबाद कस्बे की रहने वाली है। आरपीएफ उप निरीक्षक केएस मीणा ने बताया कि नूराबाद कस्बे में रहने वाली मनोरमा गुप्ता (Manorama Gupta) पत्नी मनोज गुप्ता (Manoj Gupta) उम्र 44 साल पारिवारिक क्लेश के चलते आज सुबह आत्महत्या करने के इरादे से बानमोर-नूराबाद के बीच रेलवे ट्रैक पर पहुंची थी। तभी आगरा से ग्वालियर आ रही ट्रेन को देख रेलवे ट्रैक पर खड़ी हो गई। ट्रेन की चपेट में आने से मनोरमा की मौके पर ही मौत हो गई।

रेलवे ट्रेक पर महिला को खड़ा देख आसपास से गुजर रहे राहगीरों ने महिला को रेलवे ट्रैक पर अकेला खड़ा देख कर टोका भी था, इस पर महिला ने लोगों से कहा कि वह सुबह की सैर करने आई है और कुछ ही देर बाद महिला मनोरमा ने ट्रेन से कटकर जान दे दी।

20 मिनिट रुकी रहीं ट्रेनें

महिला का शव अप रेलवे ट्रेक पर पड़े होने के कारण बीस मिनट तक ट्रेनों की आवाजा ही बंद रही। आरपीएफ व नूराबाद पुलिस द्वारा शव को रेलवे ट्रेक से हटाने के बाद ही रूट पर ट्रेनों का परिचालन शुरू हो सका। जिसके कारण आगरा से आने वाली सवारी व मालगाडिय़ों को मुरैना व हेतमपुर स्टेशन पर रोके रखा था।