Loading...

पंकज सिकरवार हत्याकांड: दो बदमाशों की पहचान हुई | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। प्रॉपर्टी डीलर पंकज सिकरवार (Pankaj Sikarwar) की दिनदहाड़े गोलियां मारकर हत्या करने वाले दो बदमाशों की पहचान हो गई है। दोनों मुरैना के रहने वाले हैं और दोनों ही गैंगस्टर परमाल तोमर (Gangster Prmal Tomar) के साथ मुरैना जेल में बंद थे। इन्हें बाइक पर बैठाने वाला भी मुरैना का एक कुख्यात बदमाश है। परमाल तोमर ने मुरैना जेल में ही प्रॉपर्टी डीलर की हत्या का षड़यंत्र रचा था। जेल से छूटने के बाद उसी ने इन बदमाशों को जमानत पर छुड़वाया। चार टीमें मुरैना सहित अलग-अलग जगह भेजी गई हैं, फिलहाल पुलिस आरोपियों तक नहीं पहुंच सकी है।  

हजीरा के वैष्णोपुरम में कंस्ट्रक्शन साइट से लौट रहे प्रॉपर्टी डीलर पंकज सिकरवार की बीच सड़क पर गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। पंकज की गैंगस्टर परमाल से अदावत चल रही थी। घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई थी, लेकिन उस दिन गोली चलाने वाले और दोनों बदमाशों को बाइक पर बैठाकर भगाने वाले बदमाशों की पहचान नहीं हो पाई थी। एक बदमाश सफेद रंग की अपाचे और एक बदमाश काले-लाल रंग की पल्सर पर साथी के साथ बैठकर भागा था। अपाचे चला रहे बदमाश की पहचान परमाल तोमर के रूप में हुई थी। 

शनिवार को वैष्णोपुरम की एक और गली में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज देखे, जिसमें चेहरे स्पष्ट नजर आए। जब मुखबिरों से पहचान कराई तो पल्सर चला रहा बदमाश रिंकू पंडित निवासी चांदपुरा, दिमनी, जिला मुरैना निकला। वहीं उसके पीछे पीली टी शर्ट में बैठा बदमाश, मुरैना का आशू तोमर निकला। परमाल के साथ अपाचे से बदमाश की पहचान सोनू तोमर निवासी चिंते का पुरा, मुरैना के रूप में हुई है।