Loading...

सहकारी बैंक गबन एवं धोखाधड़ी मामलों में FIR कराने के आदेश | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। सहकारी बैंकों में गबन एवं धोखाधड़ी के प्रकरणों की समीक्षा कलेक्टर श्री अनुराग चौधरी (Collector Shri Anurag Chaudhary) ने की। उन्होंने कहा है कि गबन एवं धोखाधड़ी के प्रकरणों में पुलिस प्रकरण कायम कर सख्त कार्रवाई की जाए। जिन प्रकरणो में एफआईआर दर्ज है, उनमें गिरफ्तारी की कार्रवाई पुलिस तत्परता से करे। 

मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित सहकारी बैंकों की बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्री शिवम वर्मा, एडीएम श्री संदीप केरकेट्टा, SDOP घाटीगाँव श्री प्रवीण अष्ठाना, उपायुक्त सहकारिता श्रीमती अनुभा सूद, अतिरिक्त जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्री अनिल मिश्रा, महाप्रबंधक DCCB श्री जे एस ठाकुर एवं सहकारी बैंकों के प्रबंध उपस्थित थे। 

कलेक्टर श्री चौधरी ने बैठक में सभी संस्थाओं के ऑडिट का कार्य तत्काल पूर्ण कराने के निर्देश दिए। इसके साथ ही बैंक कर्मचारियों की विभागीय जाँच का कार्य 15 दिवस में पूर्ण करने को कहा गया। उपायुक्त सहकारिता मुरैना को अर्द्धशासकीय पत्र के माध्यम से विभागीय जाँच को समय-सीमा में करने हेतु लिखा जाए। कलेक्टर ने बैठक में यह भी निर्देश दिए हैं कि समिति स्तर के जिन प्रकरणों में एफआईआर दर्ज की जाना है, उनमें एफआईआर दर्ज कराने की कार्रवाई बैंक महाप्रबंधक कराएं। 

बैठक में उपायुक्त सहकारिता श्रीमती अनुभा सूद ने समितियों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि धोखाधडी एवं गबन के 16 प्रकरणों में पूर्व में एफआईआर दर्ज की जा चुकी है, जिनमें से 11 प्रकरणों में गिरफ्तारी भी हुई है। शेष प्रकरणों में पुलिस द्वारा कार्रवाई की जा रही है। कलेक्टर ने बैठक में यह भी निर्देशित किया कि सहकारिता की वसूली के कार्य में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व की भी मदद ली जाए। उन्होंने अनुविभागीय अधिकारियों को भी सहारिता की वसूली में प्रभावी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।