Loading...

युवक अपने ही दोस्त की पत्नी के साथ सेक्स रैकेट चलता है: अपहरण जांच में हुआ खुला | BHOPAL NEWS

भोपाल। एक युवक ने पुलिस को अपहरण की सूचना दी। बताया कि वो और उसके दोस्त की पत्नी का भरे बाजार से अपहरण किया गया। उसने अपहरणकर्ताओं के नाम भी बताए। शाहपुरा पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों को हिरासत में ले लिया। पूछताछ के दौरान नया ही खुलासा हुआ। युवक और उसके दोस्त की पत्नी सेक्स रैकेट चलाते हैं। इसी गंदे धंधे के लेनदेन में विवाद हुआ तो उसने सबक सिखाने के लिए अपने अपहरण की झूठी रिपोर्ट दर्ज करा दी। 

राजधानी पुलिस ने फर्जी किडनैपिंग के मामले का पर्दाफाश कर दिया है। आरोपी महिला और पुरुष ने अपने अपहरण की झूठी रिपोर्ट दर्ज करवाई थी, लेकिन जांच के बाद मामले का खुलासा हुआ, तो खुद पुलिस भी चौंक गई। दरअसल जिन्हें पीड़ित समझा जा रहा था, वे सेक्स रैकेट चलाने के आरोपी निकले।

कहानी क्या थी

रामेंद्र नाम के शख्स ने पुलिस के पास रिपोर्ट दर्ज करवाई थी कि उसका और उसके दोस्त की पत्नी का 3 लोगों ने अपहरण कर लिया था। उसने बताया कि वो और उसके दोस्त की पत्नी एक मॉल के सामने अपने दोस्त का इंतजार कर रहे थे, तभी 3 लोग आए और उन्हें उन्हीं की कार में अपहरण कर लिया और इधर-उधर घुमाते रहे। किडनैपर्स ने उनसे 28 हजार रुपए, सोने की चेन, चांदी का ब्रेसलेट और मोबाइल लूट लिया। इसके बाद वे और 2 लाख रुपए छोड़ने के लिए मांगने लगे, लेकिन जब उन्होंने इतने पैसे होने से इनकार किया, तो उन्हें मोतिया तालाब के पास छोड़कर फरार हो गए।

युवक और दोस्त की पत्नी सेक्स रैकेट में पार्टनर हैं

इसके बाद पुलिस ने जब जांच की, तो अपहरण का मामला झूठा निकला। अपहरण की झूठी कहानी रचने का आरोपी रामेंद्र ही निकला। पुलिस ने रामेंद्र को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही उसने जिन 3 लोगों के खिलाफ शिकायत की थी, उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया गया है। फिलहाल तीनों आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। शाहपुरा पुलिस को जांच में पता चला कि रामेंद्र और उसके दोस्त की पत्नी दोनों सेक्स रैकेट चलाते हैं। 

अपहरण की झूठी रिपोर्ट क्यों लिखाई

जिनके खिलाफ अपहरण की रिपोर्ट दर्ज करवाई गई थी, उनसे दरअसल रामेंद्र को पैसे लेने थे, इसलिए आरोपी ने झूठी साजिश रची। जिन 3 लोगों के खिलाफ शिकायत की गई थी, पुलिस ने उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही मुख्य आरोपी रामेंद्र की भी गिरफ्तारी कर उससे पूछताछ की जा रही है।