Loading...

पंकज हत्याकांड: 4 घंटे से घात लगाए घूम रहे थे हथियारबंद | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। प्रॉपर्टी कारोबारी पंकज सिंह सिकरवार की हत्या करने के लिए हमलावर पूरी तैयारी से आए थे, वे पिछले चार घंटे से मां पीताम्बरा धर्मकांटे के पास ही चक्कर काट रहे थे और पंकज के आने का इंतजार कर रहे थे। जैसे ही प्रॉपर्टी कारोबारी बाइक से आया, हमलावरों ने उस पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाईं। यह बात पुलिस की पड़ताल में पता चली है। साथ ही पता चला है कि पिछले पंद्रह दिन से हमलावर वारदात को अंजाम देने की तांक में थे, लेकिन उन्हें मौका नहीं मिल रहा था। पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम लगातार दबिश देकर शूटरों और साजिशकर्ताओं की तलाश में जुटी हुई है, लेकिन वे पुलिस के हाथ नहीं आए हैं। हालांकि पुलिस ने शूटरों और साजिशकर्ताओं के आधा दर्जन साथियों को राउण्डअप किया है, जिनसे पुलिस अफसर पूछताछ कर उनके ठिकाने का पता लगाने में जुट गए हैं। 

ज्ञात हो कि बुधवार को प्रॉपर्टी कारोबारी पंकज सिंह सिकरवार की उस समय गोली मारकर हत्या की थी जब वह अपनी साइट से घर खाना खाने जा रहा था। वारदात को अंजाम देकर हमलावर गलियों से होकर भागे थे, जिनकी पहचान बदमाश परमार तोमर, सोनू तोमर, रिंकू शर्मा और आंसू तोमर के रूप में हुई। साथ ही पता चला कि वारदात के समय राघवेन्द्र तोमर, रमन चौहान, भाईजी चौहान, और संजय तोमर आस-पास मौजूद थे, जिस पर उनके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज हुआ था। पुलिस ने इनके मोबाइल नंबर तथा सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो पता चला कि हमलावर सुबह दस बजे से ही पीताम्बरा धर्मकांटे के आस-पास थे। 

क्राइम ब्रांच और हजीरा थाना पुलिस ने सोमवार-मंगलवार की दरमियानी रात करीब दो दर्जन स्थानों पर दबिश दी, लेकिन नामजद हमलावर हाथ नहीं आए हंै। क्राइम ब्रांच की टीम ने इनके साथ रहने वाले कुछ बदमाशों को राउण्डअप किया है और पुलिस अफसर उनसे पूछताछ कर उनके ठिकाने पता करने में जुट गई है। 

पुलिस ने हमलावरों के फेसबुक और वाट्सएप पर नजर रखने के लिए सायबर पुलिस को अलर्ट कर दिया है। जिससे इनका मूवमेंट पता चलते ही क्राइम ब्रांच की टीम उन्हें दबोच सके। इसके साथ ही उनके रिश्तेदारों और मददगारों की लिस्ट बनाई जा रही है, जो उनकी मदद कर सकते हैं।