Loading...

आजाद अध्यापक शिक्षक संघ का भोपाल प्रदर्शन 21 को | AZAD ADHYAPAK SHIKSHAK SANGH

बैतूल। आजाद अध्यापक शिक्षक संघ के प्रांतीय आह्वान पर 21 जुलाई को शाहजहानी पार्क भोपाल में हजारों अध्यापक, शिक्षक एकत्रित होकर अपनी मांगों के निराकरण के लिए मांग करेंगे। धरना प्रदर्शन में प्रदेश के समस्त जिले से अध्यापक, शिक्षक पहुंचेंगे। आजाद अध्यापक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष विनय सिंह राठौड़ ने बताया अध्यापक शिक्षक अपनी प्रमुख मांग सातवें वेतन को लेकर 21 जुलाई को भोपाल पहुचेंगे। अध्यापक संवर्ग काे शिक्षक संवर्ग में शामिल किए हुए एक वर्ष बीत गया। लेकिन आज तक शासन ने शिक्षक संवर्ग के समान वेतन एवं अन्य सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराया। इस संबंध में बार-बार ज्ञापन देने के बाद भी कोई निराकरण नहीं होने के कारण अब 21 जुलाई को भोपाल पहुंचकर अपनी मांगों के निराकरण के लिए मांग करेंगे। 

अब तक जून माह का वेतन नहीं मिला

भिंड। अध्यापक संवर्ग सहित सभी वर्गों के संविदा शिक्षकों को जून महीने का वेतन नहीं मिला है। ऐसे में जुलाई के महीने में वे अपने बच्चों का स्कूल में एडमिशन कराने, किताबें व ड्रेस खरीदने के लिए दूसरे से उधार मांगने को मजबूर हो रहे हैं। बताया जा रहा है कि शासन से बजट न मिलने की वजह से जिले के शिक्षकों को इस महीने का वेतन नहीं बांटा गया है। 

शिक्षकों को आमतौर पर महीने की 5 तारीख तक वेतन प्राप्त हो जाता है लेकिन इस महीने 18 तारीख गुजरने के बाद भी उन्हें वेतन प्राप्त नहीं हुआ है। जबकि जुलाई महीने में अधिकांश परिवारों पर बच्चों की पढ़ाई को लेकर स्कूल के एडमिशन से लेकर किताबें और स्कूल ड्रेस खरीदने का खर्चा रहता है। ऐसे में शिक्षकों को जुलाई महीने में वेतन का अटकना काफी आस रहा है। 

स्थिति यह है कि यह शिक्षक घर खर्च चलाने के लिए दूसरों से उधार मांगने को मजबूर हैं। खास बात तो यह है कि समस्या सिर्फ अध्यापक संवर्ग के साथ है। जबकि पुराने शिक्षकों को वेतन मिल चुका है, जिससे अध्यापक संवर्ग में आक्रोश भी पनप रहा है। बताया जा रहा है कि शासनस्तर से ही अध्यापक संवर्ग के हेड में पैसा न डाले जाने की वजह से यह समस्या उत्पन्न हुई है। अध्यापक संवर्ग आंदोलन की रणनीति भी बना रहा है।