Loading...

2 साल से गाड़ी बिहार में है, JABALPUR में ई-चालान बन गया

जबलपुर। चौराहों पर लगे ITMS के जरिए लोगों के घर चालान भेजे जा रहे हैं, लेकिन इस चालानी कार्रवाई में कई ऐसे तथ्य भी उजागर हो रहे हैं जिनसे शहर के भीतर हजारों की तादाद में चोरी के वाहनों के बेधड़क घूमने का पता चल रहा है। ट्रैफिक पुलिस के पास सैनिक कॉलोनी निवासी सतीश कुमार साह ने शिकायत दर्ज कराई है। इस शिकायत में उन्होंने बताया कि जिस वाहन के नाम पर उनके घर चालान भेजा गया है वो वाहन तो उन्होंने 2 साल पहले ही बिहार स्थित अपने पैतृक गांव पहुंचा दिया है। 

साह ने पुलिस अधीक्षक को लिखित में दी गई शिकायत में बताया है कि उनके नाम पर पंजीकृत होंडा शाइन मोटर साइकिल जिसका क्रमांक एमपी20एमजेड 7081 है। उसके नाम पर ई-चालान उनके घर भेजा गया है। ई-चालान में जिस गाड़ी की फोटो भेजी गई है उसकी नंबर प्लेट की डिजाइन उनकी गाड़ी की नंबर प्लेट से पूरी तरह अलग है, जबकि 2 साल से उनकी गाड़ी शहर में है ही नहीं, इसलिए आशंका जताई है कि उनके नाम पर पंजीकृत नंबर का असामाजिक तत्वों द्वारा दुरुपयोग किया जा रहा है, इसलिए ऐसे जालसाजों को जल्द से जल्द पकड़ना चाहिए। 

ट्रैफिक पुलिस ने बल्देवबाग निवासी प्रशांत श्रीवास्तव पिता अनिल श्रीवास्तव 24 वर्ष को धरदबोचा। प्रशांत ने आईटीएमएस की कार्रवाई से बचने नंबर प्लेट पर अंकित रजिस्ट्रेशन नंबर से छेड़छाड़ की। उसने नंबर प्लेट पर शुरूआत के सिर्फ दो ही अंक लिखे बाकी दो अंकों को प्लेट पर अंकित नहीं कराया। इससे आईटीएमएस के कैमरे ट्रैफिक नियम तोड़ने वाले तक पहुंच नहीं पा रहे थे। 

बीच सड़क पर न खड़ी करें स्कूल बसें 
सेंट अलॉयसियस कॉन्वेंट स्कूल तथा सेंट जोसेफ कॉन्वेंट स्कूल पेंटी नाका में स्कूल के विद्यार्थियों की जब छुट्टी होती है, तब काफी अधिक संख्या में बसें, मारुति कारें तथा ऑटो आम रास्ते पर  खड़े हो जाते हैं, जिसके कारण राह चलते लोगों को परेशानी होती है, यातायात पुलिस ने मौके पर पहुँचकर सभी वाहन चालकों को मैदान में वाहन खड़े करने के स्पष्ट निर्देश दिए हैं। आज से लगातार यहाँ क्रेन खड़ी की जाएगी तथा माइक से अलाउंस किया जाएगा। इसके अतिरिक्त पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल तैनात किया जाएगा। नियमों का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध मोटर व्हीकल अधिनियम के अंतर्गत कठोर दंडात्मक कार्यवाही की जाएगी।