पत्नी और ससुराल वालों से प्रताड़ित 2 युवकों ने आत्महत्या कर ली | INDORE NEWS

इंदौर। पत्नी और ससुरालवालों की धमकी से परेशान होकर अलग-अलग दो युवकों ने आत्महत्या कर ली। तेजाजी नगर थाना क्षेत्र में जहां एक युवक ने पत्नी और ससुर की धमकी से परेशान होकर बिलावली तालाब में कूदकर जान दी, वहीं बाणगंगा थाना क्षेत्र में पत्नी द्वारा पति और उसके भाई के खिलाफ शिकायत कराने से दुखी होकर युवक ने फांसी लगा ली। परिजनों का आरोप है कि दोनों युवकों को ससुराल पक्ष से लगातार प्रताड़ित किया जा रहा था। पुलिस दोनों ही मामलों की जांच कर रही है।

निगम कर्मचारी अर्पित इंगले तालाब में कूदा

तेजाजी नगर पुलिस के अनुसार 28 वर्षीय निगमकर्मी अर्पित इंगले ने पारिवारिक विवाद के चलते बिलावली तालाब में कूदकर बुधवार सुबह जान दे दी। नगर निगम और पुलिस ने शव को तालाब से निकालवाकर पीएम के लिए एमवास अस्पताल पहुंचाया। परिजनों का आरोप है कि अर्पित को लंबे समय से ससुराल पक्ष की ओर से धमकी मिल रही थी और पत्नी से भी परेशान था। मृतक के भाई ने बताया कि पत्नी उस पर शक करती थी। उसे लगता था कि उसका कहीं और चक्कर चल रहा है। इसी बात को लेकर वह आए दिन विवाद करती थी। विवाद कर वह अपने परिजनों को बुला लेती थी। वे कई बार अर्पित को धमकी दे चुके थे। करीब दो महीने पहले तो उन्होंने उसके साथ मारपीट भी की थी। इंग्ले निगम मास्टर कर्मी था और वह लंबे समय से बिलावली तालाब में काम कर रहा था। कुछ समय पहले ही वह राजस्व विभाग में कार्य करने गया था। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पंचनामा बनाया है और मृतक के परिजनों के आरोप के बाद जांच शुरू की।

एक दिन पहले पत्नी ने खाया था जहर : 

भंवरकुआं थाना क्षेत्र के गणेशगंज में रहने वाली पूजा इंगले ने मंगलवार को जहर खाकर जान देने की कोशिश की थी। पूजा के परिजन का आरोप है कि उसने पति अर्पित को उसने प्रेमिका के साथ रंगेहाथ पकड़ लिया था। उसने विरोध किया तो अर्पित ने प्रेमिका के सामने साथ मिलकर पीट दिया था। पुलिस ने 108 की मदद से उसे एमवायएच में भर्ती करवाया गया था।

पत्नी ने झूठा मामला दर्ज कराया तो पति ने सुसाइड कर लिया

कनाड़िया थाना क्षेत्र के बिसन खेड़ा निवासी चेतन सोलंकी ने रात में घर फांसी लगाकर जान दे दी। भाई विकास सोलंकी ने बताया कि भाभी ने कुछ समय पहले पलासिया थाने में पूरे ससुरालवालों के खिलाफ मारपीट करने की शिकायत दर्ज करवाई थी। बाणगंगा थाने मंगलवार को कॉल आया था कि तुम्हारी भाभी ने पति और देवर के खिलाफ केस दर्ज करवाया है। रिपोर्ट के बारे में पूछताछ की तो थाने से कहा गया कि यहीं आ जाना बता देंगे की क्या रिपोर्ट दर्ज करवाई है। विकास के अनुसार भाभी का मायका नरवर में है। शादी के बाद से ही भाभी दो-तीन दिन यहां रहती और ज्यादा समय मायके में रहती थी। इसी बात को लेकर भैय्या नाराज थे। उन्होंने कहा था कि अब लेकर ही नहीं आएंगे, लेकिन बाद में परिजन उन्हें लेने गए, लेकिन वो नहीं आईं। दो साल से वो मायके में ही रह रही थी। पत्नी यहां पर आती थी तो किसी और से बात करती थी। वह रुपयों की मांग करती थी। इसी बात को लेकर भैय्या काफी परेशान थे। विकाश ने बताया कि भाई ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है, जिसमें भाभी की प्रताड़ना का जिक्र है।