Loading...

RAILWAY HOSPITAL में आयुष डॉक्टरों देंगे सेवाएं | JABALPUR, MADHYA PRADESH

जबलपुर। रेल्वे अस्पतालों (RAILWAY HOSPITAL) में जल्द ही आयुष डॉक्टरों (AYUSH Doctors) की सेवाएं ली जाएंगी। इस संबंध में रेलवे बोर्ड के कार्यकारी निदेशक डॉ. के श्रीधर (Dr K Sridhar) ने आदेश जारी कर दिए हैं। रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार नई यवस्थाओं में शुरुआती दौर में 25 पद रेल्वे के ईस्टर्न, नार्थ, नार्थ ईस्टर्न, साउथ व वेस्टर्न रेल्वे के अस्पतालों में आयुर्वेद BAMS, होम्योपैथी BHMS व यूनानी BUMS डॉक्टरों के भरे जाएंगे। 

ऐसा माना जा रहा है कि रेलवे बोर्ड का आदेश जारी होने के बाद अब भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर, इंदौर (Bhopal, Jabalpur, Gwalior, Indore) आदि स्थानों पर आयुष डॉक्टर्स सेवाएं देना जल्द शुरु कर देंगे। खास बात यह है कि इन आयुष डॉक्टर्स के आने से रेल्वे के कर्मचारियों के साथ यात्रियों को एलोपैथी के साथ -साथ आयुर्वेद, होम्योपैथी, यूनानी पैथी का लाभ मिल सकेगा। कहा जा रहा है कि कई चुनिंदा रेलगाडिय़ों में आयुर्वेद पंचकर्म का लाभ भी यात्री उठा सकेंगे। रेलवे के सूत्रों का कहना है कि भले ही रेलवे बोर्ड ने रेल अस्पतालों में आयुष डॉक्टर्स की सेवाएं लेने की बात कही हो लेकिन पमरे के मुख्यालय जबलपुर में आदेश को लेकर संशय का दौर चल रहा है। मुख्यालय में इस बात को लेकर चर्चा है कि आयुष डॉक्टर्स की सेवाओं का क्या आधार होगा, उन्हें राशि भुगतान कैसे किया जाएगा, इस बारे में बोर्ड से अभी तक कोई स्पष्ट जानकारी नहीं मिली है, इसलिए अभी कुछ कहने की स्थिति में कोई नहीं है। स्पष्ट विवरण मिलने के बाद ही आयुष डॉक्टर्स की सेवाएं लेने पर विचार किया जाएगा।

गर्मी के सीजन में ट्रेनों में यात्रियों की भीड़ का फायदा उठाकर अवैध रूप से खाद्य सामग्री बेचने वाले वेंडर्स को पकडऩे का अभियान आरपीएफ द्वारा लगातार चलाया जा रहा है। इसी कड़ी में आरपीएफ ने शुक्रवार और शनिवार को मुख्य रेलवे स्टेशन पर कार्रवाई करते हुए 14 अवैध वेंडर्स को पकड़ लिया, जिन्हें रेल न्यायालय में पेश किया, जहां से सभी को जेल भेज दिया गया। आरपीएफ के पोस्ट प्रभारी वीरेन्द्र सिंह ने बताया कि छुटिटयों का समय होने की वजह से जबलपुर रेलवे स्टेशन से होकर गुजरने वाली ट्रेनों में अवैध वेंडर्स सवार होकर यात्रियों को खाद्य सामग्री बेच रहे थे, जैसे ही आरपीएफ ने कार्रवाई शुरु की, हड़कम्प मच गया और अवैध वेंडर अपनी टोकरियां-थैले लेकर भागने लगे, जिन्हें पहले से ही मौजूद आरपीएफ के स्टाफ ने दबोच लिया। उन्होंने बताया कि कुछ अवैध वेंडर स्टेशन के बाहर भी अनाधिकृत रूप से खाद्य सामग्री बेचते पाए गए, जिन्हें पकड़कर पोस्ट लाया गया।अभियान में 14 अवैधवेंडर्स पकड़े गए, जिनके विरुद्ध रेल अधिनियम की धारा 144, 137, 147 के तहत मामला दर्ज करने के बाद न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।