Loading...

प्रज्ञा ठाकुर की बाइक में ही विस्फोटक भरा था: NIA ने कोर्ट को बताया

मुंबई। साल 2008 में मालेगांव बम धमाके के मामले में गुरुवार को बम निरोधक दस्ते के अधिकारी की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) कोर्ट में गवाही हुई। इस दौरान अधिकारी ने न्यायाधीश विनोद पडालकर के सामने कहा कि बम निरोधक दस्ते के कुत्ते ने घटना स्थल पर मिली मोटर साइकिल को सूंघने के बाद भौका था, जो यह दर्शाता है कि मोटर साइकिल में विस्फोटक समाग्री थी। बता दें कि यह बाइक प्रज्ञा सिंह ठाकुर की थी। 

सुनवाई में अजय रहिरकर व कर्नल पुरोहित मौजूद थे

बम निरोधक दस्ते की अधिकारी की गवाही को सुनने के बाद न्यायाधीश ने मामले की सुनवाई शुक्रवार तक के लिए स्थगित कर दी। इस दौरान अदालत में मालेगांव बम धमाके के मामले में आरोपी अजय रहिरकर व कर्नल पुरोहित मौजूद थे। एनआईए कोर्ट में रोजाना इस मामले की सुनवाई चल रही है। मालेगांव बम धमाका मामले में भोपाल से सांसद व साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर, कर्नल प्रसाद पुरोहित सहित सात लोगों को आरोपी बनाया गया है। मामले से जुड़े सभी आरोपी जमानत पर हैं। सितंबर 2008 में हुए इस धमाके में 6 लोगों की मौत हो गई थी जबकि सौ लोग घायल हो गए थे। 

इसी बाइक के कारण प्रज्ञा ठाकुर का नाम दर्ज हुआ

बता दें कि इसी बाइक के कारण प्रज्ञा सिंह ठाकुर को आरोपी बनाया गया है। प्रज्ञा सिंह ठाकुर का कहना था कि उन्होंने अपनी बाइक का उपयोग करना छोड़ दिया था परंतु सरकारी दस्तावेजों में बाइक उनके ही नाम पर दर्ज थी। मामला आतंकवादी हमले का था अत: उन्हे गिरफ्तार किया गया और पूछताछ की गई। मालेगांव मामले में इन दिनों प्रतिदिन सुनवाई चल रही है। प्रज्ञा ठाकुर को आदेशित किया गया है कि वो सप्ताह में कम से कम एक दिन कोर्ट में हाजिर हों।