Loading...

मीसाबंदियों को मोदी सरकार से सम्मान एवं सुविधाएं मिलेंगी, सरकार ने रिपोर्ट बुलाई | NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। आपातकाल (EMERGENCY) की स्मृति में आज यहां एन.डी.एम.सी. कन्वेंशन हाल में देश भर से आये लोकतंत्र सेनानियों (LOKTANTRA SENANI) का सम्मेलन सम्पन्न हुआ जिसमें केन्द्रीय मंत्री श्री थावर चंद गेहलोत, श्री नरेन्द्र सिंह तोमर और राज्यमंत्री श्री फग्गन सिंह कुलस्ते सम्मिलित हुए जिन्होनें आपातकाल को काला धब्बा अध्याय बताया। नेताओं ने आपातकाल के दौरान श्रीमती इंद्रिरा गांधी की तानाशाही और राजनेताओं और कार्यकर्ताओं पर हुए जुल्म और ज्यादतियों का जिक्र किया। 

कार्यक्रम में लोकतंत्र सेनानी संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष एंव राज्यसभा सांसद श्री कैलाश सोनी, सांसद श्री सत्यनारायण जटिया, सांसद श्री अजय प्रताप सिंह, सांसद श्री शिव प्रसाद शुक्ला, सांसद श्री राजेन्द्र अग्रवाल, सांसद श्री अशोक कुमार वाजवेपी, सांसद श्री अमर सिंह, संघ के संरक्षक पूर्व सांसद मेघराज जैन, दिल्ली के पूर्व सांसद श्री लाल बिहारी तिवारी, पूर्व मेयर नई दिल्ली श्रीमति अनीता आर्य, संघ के संरक्षक पूर्व सांसद मेघराज जैन भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री श्याम जाजू ने भी कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आपातकाल की जुल्म ज्यादतियों की चर्चा की।

अध्यक्ष एंव सांसद श्री कैलाश सोनी ने कहा कि आपातकाल लगाने वाले लोगों की तानाशाही मनोवृन्ति में कोई बदलाव नहीं आया हैं। तानाशाही और लोकतंत्र के प्रति अनास्था के कारण आपातकाल लगाया गया था जिसके लिए श्रीमती इंद्रिरा गाँधी ने और कांग्रेस ने कभी भी अपनी गल्ती स्वीकार नहीं की अभी देश से माफी माँगी जाना शेष हैं। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री श्याम जाजू ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान सरकार आपातकाल में आंदोलन करने वालों लोकतंत्र सेनानियों (MISA BANDI) का सम्मान करने के साथ-साथ उन्हें सुविधायें पर भी विचार करेगी। श्री जाजू ने कहा कि देश में लोकतंत्र की बहाली जेल भरो आंदोलन चलाने वाले लोकतंत्र सेनानियों के कारण हुई थी। उनका सम्मान करना केन्द्र सरकार का दायित्व है। विचारधारा के लिए जिन्होनें अपना बलिदान दिया उनके प्रति शासन का भी दायित्व बनता हैं। श्री जाजू को भारतीय जनता पार्टी के द्वारा आपातकाल के दौरान आंदोलन करने वालों को सुविधायें देने और रिर्पोट देने को कहा गया है। 

लोकतंत्र सेनानी संघ के सम्मेलन में आपातकाल की याद करने के लिए पूरे देश से एक हजार प्रतिनिधि एन.डी.एम.सी. कन्वेंशन हाल में एकत्रित हुए थे। कार्यक्रम में पूर्व महापौर दिल्ली श्री सुभाष आर्य, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री सच्चिदानंद उपासने रामपुर, रविखास खेणीकर नागपुर, कुन्द कुमार तमिलनाडू, दत्ता नाईक गोवा, सचिव अशोक यादव, अजय विश्नोई विधायक पूर्व मंत्री मध्यप्रदेश, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष श्री संतोष शर्मा, राष्ट्रीय सचिव श्री धर्मवीर शर्मा, ने जोर शोर से सम्मेलन का संचालन किया दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष श्री राजन ढीगरा ने आये अतिथियों का स्वागत किया और अपने विचार व्यक्त किये।