Loading...

क्या राहुल ने सच में इस्तीफा दे दिया है, संसद में सोनिया गांधी से पूछा | NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद से ही कांग्रेस अध्यक्ष के पद से राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के हटने की चर्चा चल रही है। राहुल की जगह किसी दूसरे नेता को चुने जाने की अटकलों के बारे में पूछे जाने पर पार्टी की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी ने बृहस्पतिवार को कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। संसद भवन परिसर में इस बारे में पूछे जाने पर सोनिया पत्रकारों से कहा, 'नो कमेंट'। 

दूसरी तरफ, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने आगामी कदमों को लेकर लग रही अटकलों के बीच कहा कि वह अपने बारे में कोई फैसला नहीं करेंगे। लोकसभा चुनाव में हार के बाद से राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष पद छोड़ने को लेकर अड़े हुए हैं, लेकिन कांग्रेस की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) उनके इस्तीफे के प्रस्ताव को खारिज कर चुकी है और उनसे सभी स्तरों पर पार्टी का पुनर्गठन करने को कहा है।

आपको बता दें कि कांग्रेस पार्टी के अगले अध्यक्ष के सवाल पर आज राहुल गांधी ने कहा कि मैं प्रक्रिया में शामिल नहीं हूं। पार्टी अगले अध्यक्ष पर फैसला करेगी। साथ ही उन्होंने कहा कि इस प्रक्रिया में शामिल होकर मैं इसे जटिल नहीं बनाना चाहता। मैं पार्टी में बना रहूंगा और पार्टी के लिए काम करूंगा। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के खराब प्रदर्शन के बाद राहुल गांधी ने इस्तीफे की पेशकश की थी। हालांकि, कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में कांग्रेस नेताओं ने राहुल गांधी से अध्यक्ष पद से इस्तीफा नहीं देने की अपील की थी लेकिन राहुल गांधी ने कहा था कि वह अपने फैसले पर अडिग हैं, और वह अपना मन नहीं बदलेंगे। इसके बाद से कांग्रेस अध्यक्ष के लिए कई कयास लगाए जा रहे हैं।

हालांकि, राहुल गांधी के इस्तीफे की पेशकश को लेकर पिछले कई दिनों से चल रही अटकलों पर फिलहाल विराम लगाते हुए कांग्रेस ने कहा था कि गांधी पार्टी अध्यक्ष थे, हैं और आगे भी बने रहेंगे। पूर्व केंद्रीय मंत्री ए के एंटनी के मार्गदर्शन में हुई पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की अनौपचारिक बैठक के बाद कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुरजेवाला ने यह टिप्पणी की थी इस बैठक में पार्टी के कई वरिष्ठ नेता मौजूद थे, हालांकि राहुल गांधी इसमें शामिल नहीं थे। गांधी के अध्यक्ष पद से इस्तीफे से जुड़ी स्थिति के बारे में पूछे जाने पर सुरजेवाला ने मीडिया से कहा, 'राहुल जी अध्यक्ष थे, हैं और रहेंगे। हममें से किसी को इस पर कोई संदेह नहीं है।' यह पूछे जाने पर क्या गांधी का विकल्प तलाशा जा रहा है तो उन्होंने कहा, 'इस सवाल का कोई मतलब नहीं है।