दिग्विजय सिंह के मिर्ची बाबा की तलाश में निकली पुलिस, हिरासत में लिया जाएगा | MP NEWS

भोपाल। दिग्विजय सिंह के सम्मानीय साधुओं में शामिल वैराग्य नंद गिरी उर्फ मिर्ची बाबा की तलाश शुरू हो गई है। कलेक्टर ने डीआईजी को मिर्ची बाबा के खिलाफ विधि सम्मत कार्रवाई के लिए लिखा है। मिर्ची बाबा ने आत्महत्या करने का ऐलान किया है। पुलिस उन्हे हिरासत में ले सकती है। 

महामंडलेश्वर पद से हटाए गए वैराग्य नंद गिरी उर्फ मिर्ची बाबा ने कलेक्टर भोपाल को पत्र लिखकर समाधि लेने की अनुमति मांगी है। उन्होंने भोपाल कलेक्टर को पत्र लिखकर कहा है कि वो अभी कामाख्या मंदिर (असम) में तपस्या कर रहे हैं और वह 16 जून को दोपहर 2 बजकर 11 मिनिट पर जल समाधि लेना चाहते हैं। बता दें कि लोकसभा चुनाव के दौरान बाबा वैराज्ञानंद गिरी ने कहा था कि अगर दिग्विजय सिंह भोपाल से चुनाव नहीं जीते तो वो समाधि ले लेंगे। 23 मई को चुनाव परिणाम आने के बाद दिग्विजय सिंह भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा से हार गए। मगर इसके बाद बाबा वैराज्ञानंद गिरी अचानक गायब हो गए थे। अब सामने आए हैं। 

दिग्विजय सिंह से ज्यादा मिर्ची बाबा की किरकिरी हुई है

लोकसभा चुनाव में दिग्विजय सिंह के हारने के बाद सोशल मीडिया पर दिग्विजय सिंह से ज्यादा मिर्ची बाबा की किरकिरी हुई। हालात यह बनें कि निरंजनी अखाड़े ने वैराज्ञानंद को निष्कासित कर दिया था। बाबा वैराज्ञानंद पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के महामंडलेश्वर थे। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने कहा था कि स्वामी वैराग्यानंद का कार्य गलत था। उनका आचरण साधु-संतों की मर्यादा के खिलाफ था।