Loading...

दिल्ली से लौट रहा रामनरेश महाकौशल एक्सप्रेस से गिरा, मौत | MP NEWS

ग्वालियर। महाकौशल एक्सप्रेस के जनरल कोच में सफर कर रहे युवक की ट्रेन से गिरकर मौत हो गई। सूचना पर मौके पर पहुंची जीआरपी ने शव को कब्जे में लेकर पीएम कराने के बाद मृतक के परिजन को सौंप दिया।जानकारी के अनुसार दिल्ली में निजी कंपनी में जॉब करने वाला रामनरेश कंपनी से अवकाश लेकर घर जाने के लिए महाकौशल एक्सप्रेस के जनरल कोच में सफर कर रहा था, कोच में भीड अधिक होने के कारण वह गेट पर बैठा था। ग्वालियर स्टेशन के बाद रामनरेश को नींद का झोंका आया और वह रेलवे ट्रेक पर जा गिरा, जिससे ट्रेन की चपेट में आने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

AIRF के महामंत्री शिवगोपाल मिश्रा की पत्नी व नातिन की दुर्घटना में मौत 

भोपाल। ऑल इंडिया रेलवेमेंस फेडरेशन (एआईआरएफ) के महामंत्री शिवगोपाल मिश्रा की धर्मपत्नी श्रीमती प्रभादेवी मिश्रा (63) की भोपाल में मंगलवार, 11 जून को हुए एक सड़क हादसे में आकस्मिक मौत हो गई. प्राप्त जानकारी के अनुसार वह भोपाल के निकट एक देवी मंदिर में दर्शन करके वापस भोपाल आ रही थीं कि अचानक सामने से आए एक ट्रक से बचने के प्रयास में उनकी कार सड़क किनारे एक पेड़ से टकरा गई, जिसमें श्रीमती प्रभादेवी मिश्रा की घटनास्थल पर भी मौत हो गई, जबकि गंभीर रूप से घायल उनकी नातिन ने अस्पताल के रास्ते में दम तोड़ दिया. कार में सात लोग थे, जिसे उनका बेटा चला रहा था, उसमें सवार सभी लोग घायल हुए हैं, जिन्हें स्थानीय बंसल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है.

दुर्घटना की सूचना मिलने पर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने जब मोबाइल पर शिवगोपाल मिश्रा को इस दर्दनाक और दुखद घटना की खबर दी, तब वह दिल्ली एयरपोर्ट पर टोकियो, जापान के लिए उड़ान भरने जा रहे थे. वह तुरंत अपने सभी कार्यक्रम रद्द करके पहली उपलब्ध ट्रेन से भोपाल के लिए रवाना हो गए, क्योंकि उस समय भोपाल के लिए कोई उड़ान उपलब्ध नहीं थी. इस दुखद घटना की खबर आग की तरह पूरी भारतीय रेल में फैल गई, जिसे सुनकर सभी रेल कर्मचारी अवाक रह गए. शोक-संतप्त कर्मचारियों ने अपने-अपने तरीके से सोशल मीडिया पर इस खबर को शेयर करते हुए दिवंगत श्रीमती प्रभादेवी मिश्रा को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की.

उल्लेखनीय है कि हमेशा मुस्कराकर सबका स्वागत करने वाली श्रीमती प्रभादेवी मिश्रा चारबाग, लखनऊ, उत्तर रेलवे से चीफ टेलीफोन ऑपरेटर के पद से सेवानिवृत्त हुई थीं. पूरे घर-परिवार की जिम्मेदारी उन्हीं पर थी, जिसे उन्होंने अपनी नौकरी के साथ पूरा सामंजस्य बनाकर बखूबी निभाया. इसके साथ ही उन्होंने न सिर्फ कॉम. मिश्रा का भी पूरा ख्याल रखा, बल्कि रेलकर्मियों की समस्याओं के लिए संघर्ष करने में भी उनके साथ मजबूती से खड़ी रहीं.

श्रीमती प्रभादेवी मिश्रा की मृत्यु की खबर सुनते ही एआईआरएफ और इससे संबद्ध विभिन्न जोनल संगठनों के लगभग सभी पदाधिकारी भोपाल पहुंच रहे हैं, जहां से वह इस दुःख की घड़ी में कॉम. मिश्रा को धैर्य देते हुए अंतिम संस्कार के लिए लखनऊ जाएंगे. यह दुखद खबर सुनकर स्तब्ध एनएफआईआर के महामंत्री डॉ. एम. राघवैया, अध्यक्ष गुमान सिंह, AIRPFA के अध्यक्ष एस.आर.रेड्डी, महामंत्री यू.एस.झा, डब्ल्यूआरएमएस के अध्यक्ष शरीफ खान पठान, महामंत्री जे. जी. माहुरकर, एजीएस अजय सिंह, सीआरएमएस के अध्यक्ष डॉ. आर. पी. भटनागर सहित सीआरबी वी. के. यादव और रेलवे बोर्ड के सभी सदस्यों ने अपनी शोक-संवेदना व्यक्त करते हुए दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि अर्पित की है.

‘रेलसमाचार’ दिवंगत श्रीमती प्रभादेवी मिश्रा को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनकी पवित्र आत्मा को शांति प्रदान करके की ईश्वर से प्रार्थना करता है. ईश्वर कॉम. मिश्रा और उनके परिवार को इस दारुण-दुःख को सहन करने की शक्ति प्रदान करे.