Loading...

महिला IAS ने तंज कसते हुए लिखा 'थैंक्यू गोडसे', कांग्रेसी बिना समझे ही भड़क गए | BUREAUCRACY NEWS

नई दिल्ली। सोशल मीडिया इन दिनों आंख पर पट्टी बांधकर दौड़ रही भीड़ का दूसरा नाम होता जा रहा है। लोग किसी भी व्यक्ति को किसी भी बात पर ट्रोल करना शुरू कर देते हैं। महाराष्ट्र कैडर की महिला आईएएस निधि चौधरी ऐसी ही एक ट्रोलर्स गैंग की शिकार हो गईं। उन्होंने महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर तंज कसा था। पोस्ट अंग्रेजी मे थी। राष्ट्रवादी कांग्रेस के लोग समझ ही नहीं पाए और ट्रोल करना शुरू कर दिया। हालात यह बने कि निधि चौधरी को अपना ट्वीट रिमूव करके सफाई पेश करनी पड़ी। 

पहले किया ये ट्वीट
निधि चौधरी 2012 बैच की आईएएस हैं। इस वक्त वह BMC में कार्यरत हैं। इससे पहले वह सहायक कलेक्टर रह चुकी हैं। 17 मई को एक ट्वीट में उन्होंने लिखा था, "हम शानदार रूप से 150वीं जयंती मना रहे हैं, यही मौका है कि हम अपने नोटों से उनकी तस्वीर हटा दें, दुनिया भर से उनकी मूर्तियां हटा दें, उनके नाम से रखी गई संस्थाएं और सड़कों के नाम बदल दें, ये हम सभी की ओर से उन्हें असली श्रद्धांजलि होगी, 30 जनवरी 1948 के लिए थैंक्यू गोडसे।"

NCP ने की एक्शन की मांग
निधि चौधरी के इस ट्वीट पर एनसीपी ने कड़ी आपत्ति जताई है और उन्हें नौकरी से सस्पेंड करने की मांग की। एनसीपी नेता जितेंद्र अनहद ने कहा कि गांधी जी के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी के लिए हम तुरंत निधि चौधरी के सस्पेंशन की मांग करते हैं, उन्होंने नाथूराम गोडसे को महिमामंडित किया है, इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।

विवाद के बाद डिलीट किया ट्वीट
इस ट्वीट पर विवाद होने के बाद निधि चौधरी ने इसे डिलीट कर दिया। निधि ने एक दूसरे ट्वीट में लिखा, "17 मई के अपने ट्वीट को मैंने डिलीट कर दिया, क्योंकि कुछ लोग इसे गलत समझ गए। अगर वो 2011 से मेरे टाइमलाइन को फॉलो किए हुए होते तो वे समझते कि मैं गांधी जी का अनादर करने की सोच भी नहीं सकती हूं, मैं उनके सामने पूरी श्रद्धा से सिर नवाती हूं और अपनी आखिरी सांस तक ऐसा करती रहूंगी।