Loading...

गुस्साए कर्मचारियों ने दफ्तर का ताला तक नहीं खुलने दिया | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। दक्षिण विधानसभा के पश्चिम क्षेत्र क्रमांक 2 के पीएचई कर्मचारियों और सहायक यंत्री प्रवीण दीक्षित के बीच एक सप्ताह बना टकराव बुधवार को भी जारी रहा। सहायक यंत्री को हटाने की मांग पर अड़े कर्मचारियों ने दफ्तर का ताला नहीं खुलने दिया। सभी कर्मचारी रोशनीघर स्थित पीएचई मुख्यालय के बाहर धरने पर बैठे रहे। कार्यपालन यंत्री आरएन करैया भी कोई समाधान नहीं कर सके। कर्मचारी अब गुरुवार को निगमायुक्त संदीप माकिन से मुलाकात कर श्री दीक्षित को हटाने की मांग करेंगे। मांग न माने जाने पर उन्होंने आंदोलन जारी रखने की घोषणा की है। इस आंदोलन ने पंप ऑपरेटर, बाल्व मैन व मैदानी अमले को मुक्त रखा है इसलिए पानी सप्लाई पर असर नहीं है।

पीएचई पश्चिम क्षेत्र क्रमांक 2 के कर्मचारी सहायक यंत्री श्री दीक्षित पर गाली गलौज जैसे गंभीर आरोप लगाते हुए शुक्रवार से हड़ताल पर हैं। उन्होंने लाला का बाजार स्थित दफ्तर पर तालाबंदी कर रखी है। बुधवार को कर्मचारी फिर एकजुट हुए। उन्हें पश्चिम क्षेत्र क्रमांक 1 के कर्मचारियों ने भी समर्थन दे दिया। सभी कर्मचारी रोशनीघर पहुंचे और धरना शुरू कर दिया। खबर लगते ही कार्यपालन यंत्री श्री करैया पहुंचे और आंदोलन खत्म करने की बात कही। कर्मचारियों ने कहा कि श्री दीक्षित को हटाने जाने तक वे आंदोलन जारी रखेंगे। श्री करैया ने कहा कि यह तानाशाही है, अनुशासनहीनता पर कार्रवाई की जा सकती है। कर्मचारियों ने कहा कि वे डरेंगे नहीं, श्री दीक्षित को हटाने तक वे काम पर नहीं लौटेंगे। आंदोलन में राजकुमार भटनागर, राजेश शर्मा, प्रकाश सक्सेना, मनोज शर्मा, श्यामसुंदर शर्मा आदि शामिल थे।

छुट्टी पर गए सहायक यंत्री

कर्मचारियों के मोर्चा खोलते ही सहायक यंत्री भी फ्रंट पर आ गए हैं। वे छुट्टी पर चले गए हैं लेकिन निगमायुक्त को पत्र लिखकर जता दिया है कि कुछ कर्मचारी षड़यंत्र कर विभाग और उनकी छवि धूमिल कर रहे हैं। वे अन्य कर्मचारियों को बरगला रहे हैं। इससे कामकाज प्रभावित हो रहा है। इसलिए उन्हें इस जिम्मेदारी से मुक्त किया जाए लेकिन अनुशासनहीन कर्मचारियों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाए। निगमायुक्त श्री माकिन भोपाल गए थे। इसलिए वे गुरुवार को इस मामले में कोई निर्णय ले सकते हैं।