Loading...

GOOGLE अब भारत के गावों में ज्ञान का प्रसार करेगा @ Webmaster Conference 2019

गूगल वेबमास्टर्स कांफ्रेंस ​नई दिल्ली से उपदेश अवस्थी | स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि यदि आप किसी देश को सशक्त और समृद्ध बनाना चाहते हो तो उस देश के नागरिकों में ज्ञान का विस्तार करो। उनका कहना था कि किसी व्यक्ति को आर्थिक मदद करने से अच्छा होता है उसे प्रशिक्षित करके पैसा कमाने के योग्य बना दो। गूगल भारत के लाखों गांव में कुछ ऐसा ही करने जा रहा है। अब तक केवल वही लोग गूगल के पास आते थे जिन्हे अच्छी जानकारियों की जरूरत होती है। भारत में इंटरनेट यूजर्स की एक बहुत बड़ी संख्या है जो गूगल को तो जानती है परंतु गूगल पर अपने सवाल का जवाब कैसे सर्च करें, यह उसे नहीं पता। गूगल ने तय किया है कि अब वो भारत के गांव को भी टारगेट करेंगे। 2023 तक 45 करोड़ से ज्यादा ग्रामीण इंटरनेट यूजर्स को उनके सवालों के जवाब उपलब्ध कराए जाएंगे। गूगल वेबमास्टर्स कांफ्रेंस 2019 में इस विषय लम्बी बातचीत हुई। 

फोटो पत्रकारों के लिए कुछ खास तैयार कर रहा है गूगल

Google Search Outreach Lead - India and South Asia सैयद मलिक मिराज ने बताया कि गूगल वेबमास्टर्स कांफ्रेंस के दौरान बताया गया कि फोटो पत्रकारों के लिए भी कुछ खास तैयार किया जा रहा है। फोटोग्राफी के शौकीन लोगों के लिए भी यह काफी फायदेमंद होगा। फोटो पत्रकार और शौकिया फोटोग्राफर आने वाले दिनों में कुछ ज्यादा पैसा भी कमा पाएंगे। काफी संभावना है कि भविष्य में उन वेबसाइट्स पर ज्यादा हिट्स मिलें जिनकी फोटो क्वालिटी अच्छी होगी। 

क्षेत्रीय भाषाओं पर फोकस बना रहेगा


Google Search Outreach Lead - India and South Asia सैयद मलिक मिराज ने गूगल वेबमास्टर्स कांफ्रेंस में दोहराया कि भारत की क्षेत्रीय भाषाओं पर गूगल का फोकस ना केवल बना रहेगा बल्कि यह बढ़ता जाएगा। पिछले 3 सालों में भारत की क्षेत्रीय भाषाओं के लिए गूगल ने जो कुछ किया है, अभी और भी बहुत कुछ किया जाना बाकी है। उन्होंने कहा कि इस मामले में हम एक मिशन की तरह काम कर रहे हैं।