Loading...

CM HELPLINE शिकायत एल-1 एवं एल-2 से ऊपर नहीं जाना चाहिए: कमिश्नर

ग्वालियर। संभागीय आयुक्त श्री बी एम शर्मा ने कहा है कि शासन की प्राथमिकता वाली योजनाओं और सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जायेगी। सोमवार को मोतीमहल के मानसभागार में संभागीय अधिकारियों की अंतरविभागीय समन्वय समिति की बैठक में यह निर्देश दिए गए हैं। बैठक में डीन मेडीकल कॉलेज डॉ. भरत जैन, अधीक्षक जेएएच डॉ. अशोक मिश्रा सहित संभाग स्तरीय विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। 

संभाग आयुक्त श्री बी एम शर्मा ने अंतरविभागीय समन्वय समिति की बैठक में बिना सूचना के अनुपस्थित रहने पर तीन अधिकारियों को कारण बताओ सूचना पत्र जारी करने के निर्देश दिए हैं, जिनमें संयुक्त संचालक मछली पालन, ईपीडब्ल्यूडी ईएण्डएम एवं अधीक्षण यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग शामिल हैं। उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देशित किया है कि शासन की योजनाओं और क्रियान्वयन के लिए आयोजित होने वाली बैठकों में बिना सूचना के अनुपस्थित रहना अनुशासनहीनता की श्रेणी में आता है। सभी अधिकारी इस बात का विशेष ध्यान रखें कि बैठकों में बिना सूचना के अनुपस्थित न रहें। 

संभाग आयुक्त श्री बी एम शर्मा ने अधिकारियों को यह भी निर्देशित किया है कि अवकाश एवं मुख्यालय छोड़ने की सूचना भी अनिवार्यत: अधिकारी दें। बिना सूचना के कोई भी अधिकारी मुख्यालय न छोड़े। सीएम हैल्पलाइन की समीक्षा के दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि कोई भी शिकायत एल-1 एवं एल-2 से ऊपर नहीं जाना चाहिए। शिकायतों का निराकरण समाधानपूर्वक होना चाहिए। उन्होंने बैठक में कहा कि सेवानिवृत्त शासकीय अधिकारियों और कर्मचारियों के क्लेम प्रकरण भी प्राथमिकता से निराकृत किए जाना चाहिए। सेवानिवृत्ति के पश्चात कोई भी अधिकारी एवं कर्मचारी अपने क्लेम के लिए परेशान नहीं होना चाहिए। 

बैठक में संभाग आयुक्त श्री बी एम शर्मा ने यह भी निर्देश दिए हैं कि संभाग के सभी जिलों में किसानों से समर्थन मूल्य पर खरीदे गए खाद्यान्न का शतप्रतिशत भण्डारण सुनिश्चित किया जाना चाहिए। बरसात के मौसम को देखते हुए किसी भी जिले में अनाज खुले में नहीं रहना चाहिए। इस संबंध में जिलों के कलेक्टर भी अपने-अपने जिलों में समीक्षा कर यह सुनिश्चित करें। इसके लिए सभी कलेक्टरों को भी निर्देश जारी किए जाएं।