Loading...

BJP MLA आकाश विजयवर्गीय को हाईकोर्ट से भी जमानत नहीं मिली, समर्थकों ने मुहिम छेड़ी

भोपाल। भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे विधायक आकाश विजयवर्गीय को इंदौर कोर्ट से कोई राहत नहीं मिली। इंदौर की अदालत में मामला भोपाल ट्रांसफर कर दिया है। कोर्ट ने कहा है कि इस मामले में अब आगे की सुनवाई भोपाल की विशेष अदालत में होगी। बता दें कि विधायक एवं सांसदों के खिलाफ दर्ज मामलों की सुनवाई के लिए भोपाल में विशेष अदालत का संचालन होता है। पूरे प्रदेश के मामले इसी अदालत में ट्रांसफर कर दिए जाते हैं। 

समर्थकों ने 'मैं भी चौकीदार' की तर्ज पर 'मैं भी बल्लेबाज़' मुहिम शुरू की

बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय के समर्थकों ने नयी मुहिम छेड़ दी है। ये है मैं भी बल्लेबाज़ मुहिम। आकाश विजयवर्गीय ने बुधवार को नगर निगम अफसर की बैट से पिटाई की थी। उसके बाद हर तरफ तीखी प्रतिक्रिया हुई थी। उस निंदा और विरोध के जवाब में आकाश के समर्थकों ने ये मुहिम छेड़ दी है। समर्थकों ने ट्वीट करना शुरू किया है। इसमें लिखा है-माताओं बहनों की रक्षा के लिए,म हिलाओं के सम्मान के लिए, अन्याय से लड़ने के लिए, गरीबों के मान के लिए, इंदौर को गुंडों से बचाने के लिए, हां मैं भी बल्लेबाज हूं। #MaiBheBallebaaj

कई भाजपा नेता समर्थन में उतरे

विधायक आकाश विजयवर्गीय द्वारा की गई हिंसक कार्रवाई को न्यायोचित ठहराने के लिए कई भाजपा नेता भी समर्थन में बयानबाजी कर रहे हैं। पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने यूपी के सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव जैसा बयान दिया है। उन्होंने कहा 'नया लड़का है नया खून है, तरीका गलत हो सकता है पर उद्देश्य पवित्र था।' बता दें कि बलात्कार के एक मामले में मुलायम सिंह यादव ने भी कुछ इसी तरह का बयान दिया था।