Loading...

BHOPAL NEWS: इस बार प्रापर्टी के रेट नहीं बढ़ेंगे: विधायक आरिफ मसूद

भोपाल। प्रॉपर्टी गाइडलाइन (BHOPAL PROPERTY GUIDELINE 2019) मामले में विधायक आरिफ मसूद (CONGRESS MLA ARIF MASOOD) ने जिला मूल्यांकन समिति के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। मसूद ने दो टूक बोल दिया है कि 'भोपाल में इस बार प्रापर्टी के रेट (PROPERTY PRICE) नहीं बढ़ेंगे।' उनके स्टेटमेंट को रिकॉर्ड पर लेकर मूल्यांकन समिति ने अपना प्रस्ताव केंद्रीय मूल्यांकन समिति को भेज दिया है। 

बता दें कि पिछली बैठक में मसूद द्वारा की गई आपत्ति के बाद अफसरों ने मामूली बदलाव कर 5 से 50 फीसदी तक वृद्धि का नया प्रस्ताव पेश किया। इस पर मसूद नाराज हो गए। मसूद ने दो टूक शब्दों में कहा -‘आप मेरी तरफ से लिख दो, इस बार प्रापर्टी के रेट नहीं बढ़ेंगे। मसूद ने यहां तक कहा कि जब रेट बढ़ाना ही हैं तो आप लोग मुझे बैठक में बुलाते ही क्यों हो?’ बैठक की अध्यक्षता प्रभारी कलेक्टर बी विजय दत्ता ने की। 

बैठक में वरिष्ठ जिला पंजीयक पवन अहिरवार और समिति के सदस्य व विधायक आरिफ मसूद को रिव्यू के बाद फाइनल की गई गाइडलाइन का फोल्डर दिया तो उन्होंने पूछा कि रेट कम किए या नहीं। इस पर दोनों के बीच मामूली टकराव की स्थिति बन गई। इस दौरान बैठक में हुई बहस के बाद भी पंजीयन विभाग के अफसरों ने केवल 10 जगह रेट कम करने के बाद 5 से 50 फीसदी रेट बढ़ाने का प्रस्ताव और विधायक का मत केंद्रीय मूल्यांकन समिति के पास भेज दिया। अब महानिरीक्षक पंजीयन स्तर से इस पर फैसला होगा। इधर, सागर बंगलो गोंदरमऊ, विनायक नगर, राजा भोज आवासीय परियोजना, ए न्यू बैरिक-13, सुल्तानिया मार्ग रोड, कृष्णपुरम कॉलोनी समेत 29 नई कॉलाेनियों को गाइइलाइन में शामिल किया गया है।

खुले बाजार में प्रॉपर्टी के दाम क्या चल रहे हैं
1. कटारा हिल्स क्षेत्र... थ्री बीएचके का फ्लैट तीन साल पहले तक 32 लाख रुपए में मिल रहे थे। आज इनकी कीमत 22 लाख रह गई है, जबकि यहां गाइडलाइन के हिसाब से इसकी कीमत 28 लाख होती है और रजिस्ट्री भी इसी कीमत पर हो रही है।
2. कोलार रोड... जो फ्लैट दो-तीन साल पहले 25 लाख रुपए में उपलब्ध थे। आज उनके लिए 20 लाख में भी ग्राहक नहीं मिल रहे हैं। कलेक्टर गाइडलाइन के हिसाब से इनकी कीमत 22 लाख रुपए तक है।
3. एयरपोर्ट रोड... तीन साल पहले तक यहां 1500 वर्ग फीट के डुप्लेक्स की कीमत लगभग 70 लाख रुपए थी। आज यह 45 लाख के आसपास बिक रहे हैं। अब यह रेट गाइडलाइन के आसपास हैं।