भोपाल रेप कांड: रोशनपुरा चौराहा पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन | BHOPAL NEWS

भोपाल। नाबालिग बच्चों के साथ होने वाली ऐसी घटनाओं से मानवता शर्मसार हुई है। भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुर्नरावृत्ति न हो इसके लिए समाज को आगे आने की आवश्यकता है। समाज में जनजागरण आंदोलन चलाने की आवश्यकता है। ऐसी आंदोलन की शुरूआत भोपाल से होनी चाहिए। सभी संगठन मिलकर आगे बढ़ें ओर आंदोलन को सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचाए। यह बात मंगलवार को पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने रोशनपुरा चौराहा पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि प्रदेश में जिन स्थानों पर ऐसी घटनाएं हुई है वहां जनजागरण अभियान चलाया जायेगा। 

भाजपा जिला भोपाल द्वारा मंगलवार को नाबालिक के साथ दुष्कर्म और हत्या की घटना को लेकर पीड़िता की आत्मशांति के लिए श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। श्रद्धांजलि सभा को श्री शिवराजसिंह चौहान, साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर, पूर्व मंत्री श्री उमाशंकर गुप्ता ने संबोधित किया। सभा के पश्चात श्री शिवराजसिंह चौहान ने फास्ट ट्रेक के गठन को लेकर सीजेआई को भेजे जाने वाले पोस्टकार्ड कार्यकर्ताओं को वितरित कर अभियान शुरू किया।

समाज को अपनी जवाबदारी समझनी होगी

श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि मासूस बेटी के साथ हुई इस घटना ने हमें झकझोर दिया है। उज्जैन, नौगांव, भोपाल, जबलपुर और इंदौर में हुई ऐसी घटनाओं से समाज का विकृत चेहरा भी हमारे सामने आता है। भोपाल की घटना में प्रशासन की लापरवाही हमें स्पष्ट रूप से देखने को मिलती है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में लगातार हो रही ऐसी घटनाओं की जवाबदेही से सरकार बच नही सकती। लेकिन सरकार के साथ ही समाज को भी जवाबदारी समझने की आवश्यकता है। ऐसी घटनाओं में लापरवाही करने वाले अधिकारियों पर भी आपराधिक कार्यवाही होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं के पीछे नशा मुख्य कारण होता है। जिसके लिए भी अभियान चलाने की जरूरत हैं। आजकल स्कूल, कालेज के आसपास और बाजार में नशे के कारोबारी मौत परोस रहे है। ऐसे लोगो पर भी कार्रवाही होनी चाहिए।

दरिंदो को कठोर सजा देनी होगी


उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं समाज में फैल रही कुरीतियों को दर्शाती है। हमने सरकार में रहते हुए ऐसी घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए कठोर कानून बनाने की पहल की। जिसे आगे बढ़ाते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देश भर में इसे लागू किया। ऐसी घटनाओं के मामले निचली अदालत से लेकर हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में सजा के लिए लंबित पड़े रहते है और पीड़िता को न्याय के लिए इंतजार करना पडता है। उन्होंने कहा कि इसके लिए आवश्यक है कि ऐसे मामलों में फास्ट ट्रेक का गठन हो और 5 से 7 दिनों के भीतर ही दरिंदों को फांसी की सजा मिले।

समाज के हर वर्ग को जागरूक होना होगा

सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा कि ऐसी घटनाएं हमारे समाज पर बदनुमा दाग होती है। हमें ऐसी घटनाओं को लेकर बच्चों को सचेत करने की आवश्यकता है। जागरूकता से ही ऐसी घटनाओं पर अंकुश लग सकता है। उन्होंने कहा कि हमें राजनीतिक द्वेष भूलकर बच्चों के अच्छे भविष्य और उनके निर्माण के बारे में सोचना होगा। उन्होंने कहा कि भोपाल की उस बेटी और ऐसी सभी बच्चियां जिनके साथ ऐसी घटनाएं हुई है उन्हें मैं श्रद्धासुमन अर्पित कर प्रभु से कामना करती हूं कि उनके परिजनों को दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

मोमबत्ती जलाकर पीड़िता के लिए आत्मशांति की कामना की

श्रद्धांजलि सभा में पूर्व मंत्री श्री विश्वास सारंग, श्री रामपाल सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष रामेश्वर शर्मा, प्रदेश प्रवक्ता श्री आलोक संजर, जिला अध्यक्ष श्री विकास वीरानी, नगर निगम अध्यक्ष श्री सुरजीत सिंह चौहान, श्री सुरेंद्रनाथ सिंह प्रमुख रूप से उपस्थित थे। बडी संख्या में मौजूद पार्टी के वरिष्ठ नेता कार्यकर्ता, सामाजिक संगठनों के प्रबुद्धजनों ने मोमबत्ती जलाकर पीड़िता की आत्मशांति की कामना की।