Loading...

'लल्ला के बल्ला' के कारण ठंडा पड़ गया ABVP कार्यकर्ताओं की पिटाई कांड का मामला

भोपाल। 24 जून की रात रतलाम में ABVP कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज हुआ। 2 नेताओं को कपड़े उतारकर डंडों से पीटा और लॉकअप में बंद कर दिया। पूरे रतलाम की भाजपा इस मामले में पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन कर रही है। तय हुआ था कि प्रदेश स्तर पर प्रदर्शन किए जाएंगे परंतु इंदौर में विधायक आकाश विजयवर्गीय द्वारा क्रिकेट बैट से अधिकारी को पीटने के बाद रतलाम का मामला ठंडा पड़ गया। अब पूरे प्रदेश के भाजपा नेता या तो बल्ला का समर्थन कर रहे हैं या फिर..! 

रतलाम की कहानी 24 जून की रात से शुरू होती है, जब औद्योगिक थाने पहुंचे ABVP के चार पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं को पुलिस ने बेरहमी से पीट दिया। इस घटना के विरोध में रतलाम में प्रदर्शन का दौर जारी है। कभी ABVP सड़कों पर चक्काजाम कर रही है तो कभी थाने का घेराव। कभी बीजेपी के विधायक और नेता धरना दे रहे हैं, तो कभी ABVP प्रभारी मंत्री सचिन यादव के सामने हंगामा कर रहे है। मकसद सिर्फ इतना है कि पिटाई करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज हो।

पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन की योजना थी

बताया गया था कि युवा मोर्चा और ABVP फ्रंट लाइन पर आकर इस मामले के संदर्भ में पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन करेंगे एवं कमलनाथ सरकार के प्रति निंदा का माहौल बनाएंगे। भाजपा नेता सभी विरोध प्रदर्शनों में प्रदर्शनकारियों के साथ उपस्थित रहेंगे परंतु बुधवार को जैसे ही आकाश का बल्ला चला, यह योजना धरी की धरी रह गई।