Loading...

WORLD CUP में टीम इंडिया इस बार भारत की सेना के लिए खेलना चाहती है

मुंबई। अंतर्राष्ट्रीय मुकाबलों में खिलाड़ी हमेशा अपने देश के लिए खेलते हैं। आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप में टीम इंडिया भी देश के लिए ही खेलेगी लेकिन इस बार टीम इंडिया लंदन के स्टेडियम से भारत की सेना को सेल्यूट करना चाहती है। बता दें कि पिछले वर्ल्ड कप और इस बार के बीच इंडियन आर्मी ने 2 ऐसी सफलताएं हासिल की हैं जो इतिहास में सदा के लिए दर्ज हो गईं। भारत की पहली सर्जिकल स्ट्राइक और भारत की पहली एयर स्ट्राइक। भारतीय क्रिकेट टीम को इंग्लैंड और वेल्स में 30 मई से होने वाले आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप में खिताब के प्रबल दावेदार के रूप में देखा जा रहा है। 

भारतीय क्रिकेट टीम बुधवार सुबह इंग्लैंड के लिए रवाना हुई। टीम के रवाना होने से पहले मंगलवार को भारतीय कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री ने मीडिया से चर्चा की थी। इस दौरान विराट ने कहा, यदि हमने वर्ल्ड कप जीता तो इससे भारतीय सैनिकों और उनके परिजनों के चेहरे पर मुस्कान आएगी जो उनके खिलाड़ियों के लिए सबसे बड़ी उपलब्धि होगी।

विराट ने कहा, जब आप भारतीय सेना के योगदान की बात करते हैं तो उसकी कोई तुलना नहीं हैं। इससे बड़ी कोई प्रेरणा नहीं है और यदि खिलाड़ी अपनी सेना को ध्यान में रखकर खेलेंगे तो उससे खिलाड़ियों को अतिरिक्त बल मिलेगा। टीम इंडिया जवानों और उनके परिजनों के लिए वर्ल्ड कप जीतना चाहेगी।

कुछ दिनों पहले पूर्व भारतीय क्रिकेटर मोहिंदर अमरनाथ ने सीएट क्रिकेट अवॉर्ड की इनामी राशि इंडियन आर्मी वेलफेयर फंड को दान में दी थी। अमरनाथ ने इस साल भारतीय क्रिकेटरों को भारतीय सेना के लिए वर्ल्ड कप खेलने के लिए प्रेरित किया है, क्योंकि उनके अनुसार इससे बड़ी कोई प्रेरणा नहीं हो सकती हैं।

भारतीय टीम 25 और 28 मई को न्यूजीलैंड और बांग्लादेश के खिलाफ वार्मअप मैच खेलेगी। वर्ल्ड कप की शुरुआत 30 मई को होगी लेकिन टीम इंडिया को अपना पहला मैच 5 जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलना है।