Loading...

MP NEWS | सिलेंडर फटा, 37 लोग जल गए, 200 मीटर तक आग के गोले

बैतूल। अठनेर के हिड़ली गांव में रविवार रात 7 बजे अचनक सिलेंडर फट गया। करीब 200 मीटर तक आग के गोले, तोप के गोलों की तरह छूटे। शादी समारोह में उपस्थित 37 लोग इसकी चपेट में आ गए। कुछ तो 60 प्रतिशत से ज्यादा जल गए हैं। मकान, दुकान, ट्रैक्टर, बाइक के साथ गृहस्थी के सामान भी जलकर राख हो गया। 

गैस सिलेंडर फटने से भड़की आग का वेग इतना तेज था कि 200 मीटर दूर के लोग भी चपेट में आ गए। कई लोग आग की चपेट में आने से 60 प्रतिशत से ज्यादा जल गए हैं। अधिकांश घायलों का आठनेर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक उपचार के बाद बैतूल अमरावती नागपुर के निजी अस्पतालों में उपचार चल रहा है। इसमें पांच की हालत गंभीर है। सोमवार को तहसीलदार अनिता भोयर और पटवारी ने मौके पर पहुंचकर नुकसान का आंकलन किया और पंचनामा बनाया। घटना में 15 लाख रुपए के नुकसान का आंकलन किया है। 

घर के आंगन में सो रहा व्यक्ति भी जल गया

आग बुझाने और दूर खड़े लोगों में 36 लोग घायल हुए हैं। इसमें से निखिल जितपुरे, महेश जितपुरे, अजय आजाद, जिया लाल धुर्वे, उमेश आजाद, गणेश लहरपुरे बुरी तरह जख्मी हुए हैं। इसमें महेश जितपुरे, अजय आजाद, गणेश लहरपुरे का महाराष्ट्र के अस्पताल में उपचार चल रहा है। 60 प्रतिशत से ज्यादा जख्मी जिया लाल धुर्वे की आंखों पर भी असर पड़ा है। जिया लाल धुर्वे घटनास्थल से 200 मीटर दूर अपने घर के आंगन में सो रहे थे इतनी बड़ी घटना के बाद में केवल तहसीलदार ही घटनास्थल पर पहुंचीं थीं। कोई वरिष्ठ अधिकारी गांव में नहीं आए। इससे ग्रामीणों में नाराजगी है। 

15 लाख की नुकसान का आंकलन: 

आग लगने की इस घटना से टीका राम साहू का ट्रैक्टर, प्रफुल्ल हागे की कोल्डड्रिंक की दुकान, सुनील लहरपुरे की बाइक, गणेश जितपुरे का पान ठेला, मारोतराव देशमुख की मोटर रिवाइंडिंग की दुकान, टीकाराम साहू का मकान संतोष लोखंडे की हाेटल, कुसुम संपतराव हागे का मकान, रूपेंद्र आर्य की कोल्डड्रिंग्स की दुकान, गौरीशंकर आर्य की दुकान शरद जितपुरे का मकान, मनोज आजाद की दुकान को आग ने अपनी चपेट में लिया। टीका राम साहू का नया ट्रैक्टर भी आग में जल गया। इससे करीब 15 लाख रुपए का नुकसानी आंकी जा रही है। 

मजिस्ट्रीयल जांच के आदेश

कलेक्टर ने इस भीषण अग्निकांड को गंभीरता से लेते हुए घटना की मजिस्ट्रीयल जांच के आदेश दिए हैं। कलेक्टर के निर्देश पर अज्ञात आरोपी के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई गई है। इसके अलावा तहसीलदार को नुकसानी का आकलन करने हेतु निर्देशित किया गया है। कलेक्टर ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि जिले में व्यावसायिक संस्थानों में घरेलू गैस सिलेण्डरों का उपयोग न हो, इस बात की सघन जांच की जाए। साथ ही यह सुनिश्चित किया जाए कि इन संस्थाओं में कमर्शियल गैस सिलेण्डरों का ही उपयोग किया जाए। 

विवाह समारोहों में भी मैरिज हाउसेस द्वारा कमर्शियल गैस सिलेण्डरों का ही उपयोग किया जाए। इसी क्रम में आठनेर क्षेत्र में सुरक्षित गैस सिलेण्डर का उपयोग नहीं किए जाने के संबंध में वहां पदस्थ सहायक आपूर्ति अधिकारी एवं कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी को कारण बताओ नोटिस भी जारी किए गए हैं। 

कलेक्टर द्वारा आपूर्ति विभाग के समस्त मैदानी अधिकारियों से कहा गया है कि वे समूचे जिले के व्यावसायिक संस्थानों, मैरिज गार्डन इत्यादि की सघन जांच करें एवं सभी स्थानों पर सुरक्षित कमर्शियल गैस सिलेण्डरों के उपयोग के लिए लोगों को प्रेरित करें। जहां कमर्शियल संस्थानों में घरेलू गैस सिलेण्डरों का उपयोग पाया जाता है, वहां तत्काल कार्रवाई की जाए।