Loading...

2019 में बारिश कैसी होगी, कहां बाढ़ आएगी, कहां सूखा पड़ेगा: स्काइमेट का MONSOON FORECAST

नई दिल्ली। प्राइवेट एजेंसी स्काइमेट ने 2019 में देश में मानसून सामान्य से कम (91% वर्षा) रहने का अनुमान जताया है। कम बारिश की संभावना 50 फीसदी है, जबकि सूखे की संभावना 20% है। स्काइमेट ने मध्यभारत में मानसून के कमजोर रहने का अनुमान लगाया है। मध्यभारत में मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र एवं राजस्थान का कुछ हिस्सा आता है। 

एजेंसी के मुताबिक, मानसून अपने सामान्य समय पर भारत में दस्तक दे सकता है। हालांकि, यह शुरुआत में कमजोर रहेगा। भारत में सबसे पहले मानसून अंडमान और निकोबार द्वीप में 22 मई को आने की संभावना है। आमतौर पर यहां मानसून 20 मई तक दस्तक देता है। वहीं, केरल में मानसून 4 जून को दस्तक दे सकता है।

पूर्वी, पूर्वोत्तर और मध्य भारत में कम बारिश की आशंका

स्काइमेट के एमडी जतिन सिंह के मुताबिक, “2019 में मानसून का सभी चारों क्षेत्रों में कमजोर प्रदर्शन देखने को मिलेगा। पूर्वी, पूर्वोत्तर और मध्य भारत में कम बारिश की आशंका है, जबकि उत्तर-पश्चिम और दक्षिण भारत में चिंता कम है।” इससे पहले भी स्काइमेट ने 3 अप्रैल को देश में मानसून सामान्य से कम (93% वर्षा) रहने का अनुमान जताया था। मानसून के सामान्य से नीचे रहने के 55% से ज्यादा आसार हैं।