Loading...

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्र की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत | JABALPUR NEWS

जबलपुर। माढ़ोताल थाना क्षेत्र स्थित वृंदावन नगर में किराए के मकान में रहकर सब इंस्पेक्टर की परीक्षा की तैयारी कर रहे एक युवक का शव उसके घर पर फंदे पर लटका हुआ मिला। मृतक दो दिन से किसी को नहीं दिखा था और न ही किसी का फोन रिसीव किया था। मृतक की बहन भी मदन महल इलाके में एक निजी हॉस्टल में रहकर पढ़ाई कर रही है, जो अपनी सहेली के साथ भाई को देखने पहुंची तो उसकी मौत का पता चला। जिस कमरे में शव मिला वहां फर्श पर खून के धब्बे भी मिले, जिसके कारण मौत को संदिग्ध माना जा रहा है। हालांकि पुलिस इसे आत्महत्या का प्रकरण मानकर जांच कर रही है।  

बहन भी इसी शहर में रहती है 

माढ़ोताल पुलिस ने बताया कि अनूपपुर निवासी पारस द्विवेदी (Paras Dwivedi) का 21 वर्षीय बेटा पंकज द्विवेदी (Pankaj Dwivedi) वृंदावन नगर में किराए के मकान में रहकर SI के साथ अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था। पंकज की छोटी बहन मोनिका द्विवेदी (Monica Dwivedi) भी मदन महल क्षेत्र में निजी हॉस्टल में रहकर पढ़ाई कर रही है। गुरुवार की सुबह मोनिका भाई से मिलने पहुँची तो कमरा अंदर से बंद था। मोनिका और उसकी सहेली ने आसपास रहने वालों से पंकज के बारे में पूछा, तो लोगों ने दो दिन से उसके नहीं दिखने की बात कही। इसके बाद मोनिका ने कुछ लोगों की मदद से दरवाजा खुलवाया तो अंदर से तेज दुर्गंध आई और जब मोनिका अंदर पहुँची तो उसका भाई पंकज फंदे पर झूल रहा था। भाई को मृत देखकर मोनिका जोर-जोर से रोने लगी और इसके बाद पूरा मोहल्ला एकत्रित हो गया। सूचना मिलने पर पुलिस ने पहुँचकर शव को फंदे से उतारकर पीएम के लिए भिजवाया। 

इसलिए लग रहा मामला संदिग्ध

पंकज के पैर जमीन से टिके हुए थे, इसलिए लोगों का मानना है कि फाँसी लगाने वाले के पैर झूलते हैं। इसके अलावा फर्श पर खून के धब्बे और खुली पड़ी आलमारी और पंकज का मोबाइल भी टूटा हुआ मिला। इस संबंध में माढ़ोताल थाना प्रभारी अनिल गुप्ता का कहना है कि मौके पर किसी तरह का सुसाइड नोट नहीं मिला है,जिसके कारण प्राथमिक तौर पर यह मामला आत्महत्या का लग रहा है, लेकिन किसी दूसरी संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता। लिहाजा वास्तविकता कॉल डिटेल और जाँच के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा।