Loading...

पति ने पत्नी का सिर फोड़कर उसके प्रेमी की हत्या कर दी | INDORE NEWS

इंदौर। बाणगंगा थाना क्षेत्र के शीतल नगर (Sheetal Nagar) में गुरुवार तड़के एक युवक ने अपनी पत्नी के प्रेमी की चाकू मारकर हत्या कर दी। उसने पत्नी और प्रेमी को एक साथ कमरे में देख लिया था। उसने पत्नी से भी मारपीट की। सूचना पर पुलिस पहुंची और आरोपित को थाने ले गई, जबकि घायल महिला को अस्पताल पहुंचाया। महिला का सात महीने से प्रेम प्रसंग चल रहा था, जिसकी भनक उसके पति को लग गई थी।

पुलिस के मुताबिक घटना सुबह करीब 4 बजे की है। आरोपित शेखर (Shakher Baghel)(30) पिता रणछोड़ बघेल (Ranchodrai Baghel) ने पत्नी गीता (GEETA) के प्रेमी राकेश (Rakesh Dubey) (27) पिता भागीरथ दुबे (Bhagirath Dubey) निवासी गोविंद कॉलोनी (Govind Colony) की हत्या कर दी। बीचबचाव कर रही पत्नी के सिर पर बैट मार दिया, जिससे वह बेहोश होकर गिर गई। थानेदार स्वराज डाबी ने बताया कि शेखर सांवेर रोड स्थित प्लास्टिक फैक्टरी में नौकरी करता है। उसकी रात 8 से सुबह 8 बजे के बीच ड्यूटी रहती है। बुधवार रात फैक्टरी में काम कम होने से वह सुबह चार बजे अचानक घर आ गया।

दरवाजा खोलकर अंदर गया तो पत्नी और उसका प्रेमी राकेश एक साथ कमरे में मिल गए। राकेश पलंग पर सो रहा था। इस पर वह गालीगलौज करने लगा। किचन से चाकू लेकर आया और राकेश पर तीन वार कर दिए, जिससे वह घायल होकर जमीन पर गिर गया। हंगामे की आवाज सुन मकान मालिक विकास लोधी परिजन के साथ नीचे पहुंच गया। वह कमरे में गया तो राकेश खून में लथपथ पलंग के नीचे पड़ा था। वहीं गीता भी घायल हालत में नीचे पड़ी हुई थी। आरोपित के हाथ में चाकू देख विकास ने उसे पकड़कर पुलिस और एम्बुलेंस को सूचना दी।

पुलिस के मुताबिक शेखर गीता की तीसरा पति है। गीता ने उससे वर्ष 2016 में कोर्ट मैरिज की थी। इसके पहले उसकी शादी उरई (ललितपुर) में किसी किसान से हुई थी। पहले पति से उसे दो बच्चे भी हैं। कुछ वर्षों तक साथ में रहने के बाद वह पहले पति को छोड़कर भाग आई थी। इसके बाद उसने खुरई निवासी युवक से दूसरी शादी की। दोनों का एक बेटा भी है। गीता ने अपने दूसरे पति को विवाद के बाद छोड़ दिया था। इसके बाद उसने शेखर से शादी की थी। वह अपने तीनों बच्चों को साथ रखती थी। गीता ने पुलिस को बताया कि करीब सात महीने से उसकी राकेश से दोस्ती थी। वह उससे प्रेम करती थी। पत्नी के फैक्टरी जाने के बाद राकेश अकसर घर आ जाता था।

राकेश के रिश्तेदार नीरज ठाकुर ने बताया कि महिला ने राकेश को रात को फोन लगाकर घर बुलाया था। साजिश के तहत उसकी हत्या की गई है। सुबह 6 बजे मकान मालिक विकास ने बताया कि राकेश को एमवाय अस्पताल ले गए हैं। अस्पताल पहुंचे तो पता चला कि उसकी मौत हो चुकी है। वह एक महीने से महिला को ज्यादा समय देने लगा था। काम पर भी नहीं जाता था। यह भी पता चला कि महिला डेढ़ महीने पहले ही शीतल नगर में किराए के मकान में रहने आई थी। वह पहले भी कई युवकों को प्रेम जाल में फंसाकर रुपए ऐंठ चुकी है। वह राकेश का डेढ़ लाख रुपए का बैंक बैलेंस भी पूरा खत्म करवा चुकी है। दबाव में राकेश ने घर के जेवर भी महिला को लाकर दे दिए थे। आठ दिन पहले महिला घर पर आई थी। वह घर वालों को धमकाकर गई थी। उसने कहा था कि अगर राकेश उससे मिलने नहीं आएगा तो वह पूरे परिवार को झूठे केस में फंसा देगी।