INDORE के महिला थाना में महिलाओं की सुनवाई ही नहीं होती, ऐसा थाना बंद करवा दो: पीड़िता | MP NEWS

Advertisement

INDORE के महिला थाना में महिलाओं की सुनवाई ही नहीं होती, ऐसा थाना बंद करवा दो: पीड़िता | MP NEWS

इंदौर। मैडम, महिला थाना बंद करवा दो। वह बनाया तो महिलाओं के लिए है, लेकिन यहां सुनवाई मर्दों की होती है। महिलाएं रिपोर्ट दर्ज करवाती हैं और वहां बैठी पुलिस वाली आदमियों से सेटिंग कर कोई कार्रवाई नहीं करती है। मेरे पति ने दूसरी शादी कर ली। जब मैं शिकायत लेकर पहुंची तो पुलिसकर्मी ने कहा कि राजीनामा कर लो और दोनों साथ में रहो। क्या ऐसा करने के लिए मेरा धर्म इजाजत देता है? मैं तीन बेटियों को कैसे पालूंगी।

पुलिस कंट्रोल रूम में एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र के सामने महिला पुलिस थाने के खिलाफ यह आरोप विज्ञान नगर में रहने वाली सपना पति लोकेश दधीच ने गुरुवार को लगाया। सपना का कहना है कि उसका पति लोकेश दूसरी महिला के साथ रहता है। खजराना में मार्बल का कारोबार करता है। शादी के बाद से अब तक उसने मुझसे धीरे-धीरे 10 लाख रुपए ले लिए। अब मुझे पूछता नहीं है। मेरी 15, 12 और 08 साल की तीन बेटियां हैं। उनकी परवरिश में परेशानी आ रही है। जब मुझे सौतन की जानकारी मिली तो मैंने खजराना स्थित मार्बल दुकान पर जहर खा लिया था। वहां की पुलिस ने रात को बयान लिया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की। बाद में मैंने महिला थाने पर शिकायत दर्ज करवाई। तब एक पुलिसकर्मी ने कहा कि तुम तो अपने पति से राजीनामा कर लो। दोनों साथ में रहो। मैडम मैं ऐसा नहीं कर सकती हूं। महिला थाने पर कोई कार्रवाई नहीं होती है।

पति नालायक है, अब भरण पोषण का केस करो
महिला की बात सुनकर एसएसपी ने कहा कि तुम्हारा पति नालायक है, जो दूसरी शादी कर चुका है। तुम दूसरी पत्नी पर केस दर्ज नहीं करवा सकती, लेकिन हमने पति के खिलाफ केस दर्ज किया है। अब हम एक फॉर्म देंगे। उसे भरकर पति पर भरण-पोषण का केस लगाओ। एसएसपी ने उसकी पूरी बातें सुनकर कानूनी सलाह दी और उसका मनोबल भी बढ़ाया।