Loading...

HOSHANGABAD स्ट्रांग रूम के पास युवक की हत्या, 3 घंटे शहर में आराम से टहलता रहा हत्यारा | MP NEWS

होशंगाबाद। हाई सिक्योर्ड स्ट्रांग रूम जहां लोकसभा चुनाव के लिए मतदान के बाद ईवीएम रखी गईं हैं, से मात्र 200 मीटर की दूरी पर एक युवक की हत्या कर दी गई। हत्यारे ने करीब 10 बार युवक के सिर में लोहे की रॉड मारी। रात 8:30 बजे के आसपास हत्या की गई और रात करीब 11.45 बजे जब हत्यारे ने सरेंडर किया तब कहीं जाकर पुलिस को इस घटना का पता चला। इस बीच हत्यारा शहर में आराम से घूमता रहा। 

शहर में आराम से टहलता रहा हत्यारा

शहर के बालागंज मोहल्ला निवासी आशीष काशिव ने करन बिसोपिया उर्फ कन्नू (33) की हत्या की है। दोनों बचपन के दोस्त थे। करीब 10 बार सिर में रॉड मारने के बाद जब हत्या की पुष्टि हो गई तब आरोपी वहां से रवाना हुआ। दोस्त की हत्या करने के बाद आरोपित ने सबसे पहले वाहन मालिक के यहां खड़ा किया और उसके बाद रेलवे की पटरियों पर जाकर बैठ गया। करीब दस मिनट बैठने के बाद सीधे घर पहुंचा और मां से बोला कि मैंने अपनी बेइज्जती का बदला ले लिया है, पुलिस के पास समर्पण करने जा रहा हूं।

घटना की कहानी जो सरेंडर के बाद आशीष ने सुनाई

आरोपित आशीष का कहना है कि करन उसके बचपन का दोस्त था, लेकिन आए दिन उसे परेशान करता रहता था। बात-बात पर मारपीट करना और दूसरों के सामने बेइज्जती करना, उसकी आदत में शुमार हो चुका था इसलिए हत्या करने की साजिश रची। करन तेज स्वभाव का था इसलिए वह आए दिन उस पर धौंस जमाता रहता था। आशीष के मुताबिक रविवार रात करीब आठ बजे वह लोडिंग पिकअप लेकर अपने मालिक के पास जा रहा था। इसी दौरान महावरी टॉकीज के पास करन ने उसे रोक लिया और तंबाकू गुटखा खिलाने को कहा। जब उसने करन को गुटखा खिलाने से मना कि या तो करन ने उसे थप्पड़ मार दिया। इसके बाद उसने करन को गुटका खिला दिया। गुटखा खाने के बाद करन रुपए मांगने लगा था, लेकिन उसके पास रुपए नहीं थे।

कॉलर पकड़कर सबके सामने घुमाया 

आशीष ने पुलिस को बताया कि जब उसने करन को रुपए देने से मना कि या तो करन ने सबके सामने मारपीट शुरू कर दी और इसके बाद कॉलर पकड़कर कर सबके सामने घुमाने लगा। कई बार करन को छोड़ने को बोला लेकि न वह नहीं माना और मारपीट करता रहा। आधे घंटे तक सबके सामने बदसलूकी करने के बाद करन वहां से चला गया।

8 बजे अपमानित किया गया था, 8:30 बजे वापस लौटा और हत्या कर दी

करन की हरकतों से आशीष बेहद परेशान हो चुका था। करीब आधे घंटे बाद वह पिकअप लेकर वापस आया और करन को ढूंढता रहा। करीब दस बजे करन रोड पर खड़ा मिल गया। इस पर आशीष ने उसे बोला कि वह और शराब पिलाएगा, लेकिन उसे चलना होगा। वह करन को एसएनजी मैदान के सामने होमसाइंस कॉलेज रोड पर ले गया और सिर पर रॉड मार कर हत्या कर दी। रात करीब 11.45 बजे आशीष ने एसडीओपी मोहन सारवान, टीआई आशीष सिंह पवार के सामने समर्पण कर दिया और घटना की पूरी जानकारी दी।