Loading...

साध्वी प्रज्ञा सिंह के सवाल को टाल गईं उमा भारती | BHOPAL NEWS

भोपाल। भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को 2 बार तंज कसने के बाद केंद्रीय मंत्री उमा भारती भोपाल आईं। यहां दोनों बहनों का एतिहासिक मिलाप हुआ। उमा भारती ने कुछ सभाएं भी लीं परंतु भोपाल से जाते ही उमा भारती फिर अपने ट्रेक पर आ गईं। उत्तरकाशी के हर्षिल नामक स्थान पर जब पत्रकारों ने उनसे प्रज्ञा ठाकुर का प्रश्न किया तो उसे टाल गईं जबकि टिहरी लोकसभा सीट पर भाजपा की स्थिति के बारे में जानकारी ली। 

केंद्रीय मंत्री उमा भारती शुक्रवार की सुबह नौ बजे धराली से हर्षिल पहुंची। हर्षिल में वह श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर गई, जहां पहले पूजा-अर्चना की, फिर करीब ढाई घंटे तक ध्यान लगाया। फिर दोपहर में भागीरथी के किनारे भोजन किया और बाद में हर्षिल बाजार में कॉफी की चुस्की ली। इस दौरान उन्होंने स्थानीय लोगों से भी मुलाकात की। नोएडा व गाजियाबाद के कुछ पर्यटक भी उमा भारती से मिले। उमा भारती ने स्थानीय लोगों से टिहरी सीट का मिजाज पूछा और यह भी जाना कि टिहरी सीट पर भाजपा प्रत्याशी माला राज्य लक्ष्मी शाह की क्या स्थिति है। 

इसके अलावा, उन्होंने नरेंद्र मोदी की बायोपिक फिल्म की शूटिंग के संबंध में भी जानकारी ली। स्थानीय लोगों ने बताया कि बायोपिक की शूटिंग हर्षिल और धराली में हुई। तब उमा भारती ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घाटी में ध्यान और तप किया है। साध्वी प्रज्ञा के चुनाव लड़ने और समर्थन करने के सवाल पर उमा भारती ने मुस्कराते हुए सवाल को टाल दिया। 

RSS के दवाब में प्रचार करने आईं थीं उमा भारती

सूत्रों का कहना है कि उमा भारती, प्रज्ञा सिंह ठाकुर को एक साध्वी के रूप में कतई पसंद नहीं करतीं। जब तक प्रज्ञा सिंह ठाकुर एक छात्र नेता थीं, उमा भारती ने उनका काफी सपोर्ट किया। एटीएस ने जब प्रज्ञा सिंह ठाकुर को गिरफ्तार किया तब भी उमा भारती ने गिरफ्तारी को गलत बताया और कई बयान दिए परंतु भगवा चोला और भोपाल से उम्मीदवारी उमा भारती की नजर में उचित नहीं है।