शिवराज सिंह जी, ये रहे 83 वचन पूरे होने के प्रमाण, अब इस्तीफा दिखाईए: कांग्रेस | MP NEWS

भोपाल। कांग्रेस और शिवराज सिंह के बीच डाल पात का खेल जारी है। इंदौर की चुनावी रैली में शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की थी कि यदि कांग्रेस 83 वचन पूरे होने के प्रमाण प्रस्तुत कर दे तो वो राजनीति से सन्यास ले लेंगे। आज कांग्रेस का प्रतिनिधि मंडल सभी प्रमाण लेकर शिवराज सिंह के घर जा पहुंचा। हालात यह बने कि शिवराज सिंह ने मिलने का समय ही नहीं दिया, यहां तक कि स्टाफ को भी मना कर दिया कि वो किसी भी प्रकार के दस्तावेज पर पावती दें। अंतत: कांग्रेस ने सभी प्रमाण उनके दरवाजे पर चस्पा किए और रजिस्टर्ड डाक से भेज दिए। कांग्रेस का कहना है कि हमने सबूत दिखा दिए। अब शिवराज सिंह अपना इस्तीफा दिखाएं। 

मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बताया कि कांग्रेस ने घोषणा के अनुरूप सुबह से शिवराज सिंह से मिलने का समय मांगा। बार-बार समय मांगने के बाद भी समय नहीं दिया गया। हमने दोपहर 1.30 बजे शिवराज सिंह के घर जाकर प्रमाण व सूची सौंपने की घोषणा की। मध्यप्रदेश कांग्रेस के लोकसभा चुनाव प्रबंधन प्रभारी केंद्रीय पूर्व मंत्री सुरेश पचौरी ने कांग्रेस के वचन पत्र के 83 वचन पूरे होने के प्रमाण आज मीडिया को जारी कर कांग्रेस के एक प्रतिनिधि मंडल को मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा के नेतृत्व में शिवराज सिंह के घर एक लिफाफे में देने के लिए भेजा। 

जब कांग्रेस का प्रतिनिधि मंडल शिवराज सिंह जी के निवास पर प्रमाण देने पहुंचा तो वहां शिवराज सिंह जी नहीं मिले। निवास का मुख्य द्वार बंद था, उनके निवास पर मौजूद स्टाफ ने मुख्यद्वार को खोलकर कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल को न तो अंदर आने दिया गया और न ही वहां मौजूद कोई भी कर्मचारी 83 वचनों की सूची व प्रमाण पत्र लेने को तैयार हुआ। गेट पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने भी प्रमाण पत्र लेने से मना कर दिया और कहा कि हमें प्रमाण पत्र नहीं लेने के आदेश प्राप्त हैं। 

थक-हार कर अंत में कांग्रेस के प्रतिनिधि मंडल ने उनके निवास के गेट पर प्रमाण पत्र चस्पा कर दिया और वापस लौट आये। बाद में डाक व कोरियर से 83 वचन के प्रमाणों और सूची को उनके निवास पर भेज दिया गया। प्रतिनिधि मंडल में मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा के साथ प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी, अजयसिंह यादव, विक्की खोंगल, शहरयार खान सहित अन्य कांग्रेसजन उपस्थित थे।