Loading...

मैं मुख्यमंत्री होता तो खेत की मिट्टी भी 2100 के भाव बिकवा देता: शिवराज सिंह | MP NEWS

उज्जैन। उन्हेल में एक सभा को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आज किसानों की फसल बिकना मुश्किल है। मैं मुख्यमंत्री होता तो गेहूं 2100 रु. के भाव बिकता, गेहूं साथ मिट्टी भी बिकवा देता। आपके खाते मे ब्याज का पैसा, भावांतर का पैसा, बीमे का पैसा आता था। अभी कोई पैसा आपके खाते में नहीं आ रहा।

किसानों का कर्ज माफ नहीं हो सकता

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश सरकार और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को निशाना बनाया। वे बोले- आपका एक वोट दो काम करेगा, एक तो केंद्र में नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाएगा, दूसरा मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार को सबक सिखाएगा। शिवराज ने कांग्रेस के राहुल बाबा को झूठा बताते हुए प्रदेश सरकार की नीतियों और विधानसभा चुनाव में किए गए वादों को झूठ का पुलिंदा बताया। उन्होंने कहा- प्रदेश के किसानों पर 48 हजार करोड़ का कर्ज है। कमलनाथ सरकार ने बैंकों को 1300 करोड़ ही दिए है। जब तक 48 हजार करोड़ रुपया बैंकों को नहीं मिलेगा किसानों का कर्ज माफ नहीं हो सकता। 

22 मिनट भाषण दिया

प्रदेश सरकार ने मेरे भाई का कर्ज माफ करने का दावा किया है। जबकि मैंने भाई से पूछा तो उसने बताया उसने लोन का आवेदन दिया ही नहीं, वे इनकम टैक्स देते हैं। कोई कर्जा माफ नहीं हुआ है। किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ तो यह मामा सड़क पर उतरकर कमलनाथ सरकार की ईंट से ईंट से बजा देगा। वे घट्टिया विधानसभा के उन्हेल में जनसभा का संबोधित कर रहे थे। दोपहर 3 बजे की बजाए दो घंटे देरी से शाम 5.23 पर आमसभा को संबोधित करने पहुंचे। 22 मिनट भाषण दिया। 

23 तारीख के बाद लालटेन चिमनी खरीद लेना

शिवराज बोले- आज किसानों की फसल बिकना मुश्किल है। मैं मुख्यमंत्री होता तो गेहूं 2100 रु. के भाव बिकता, गेहूं साथ मिट्टी भी बिकवा देता। आपके खाते मे ब्याज का पैसा, भावांतर का पैसा, बीमे का पैसा आता था। अभी कोई पैसा आपके खाते में नहीं आ रहा। वे भावुक होकर बोले- अक्षय तृतीया पर पर बेटियों की शादी नहीं हो सकी। तीर्थ दर्शन, बीमारों का इलाज सब इस सरकार ने बंद कर दिया। बिजली कटौती हो रही है। इसके लिए भाजपा को बदनाम किया जा रहा है। भोपाल मे कमलनाथ ने दिग्गी राजा को जनरेटर पकड़ा दिया है। 23 तारीख के बाद लालटेन चिमनी खरीद लेना।