Loading...

चतुर चाणक्य के सारे सूत्र फेल हो गए, सिर्फ 06 हजार का अंतर पाट पाए | BHOPAL NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश में स्थापित मजबूत शिवराज सिंह सरकार को पलटने वाले कांग्रेस के चतुर चाणक्य दिग्विजय सिंह की रणनीतियां उनके अपने काम नहीं आ पाईं। डेढ़ महीने की हाड़तोड़ मेहनत के बाद वो केवल 6 हजार वोटों का अंतर पाट पाए, वह भी तब जब प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने 3 बड़े विवादित बयान दिए, जिससे देश भर में हंगामा मचा। 

दिग्विजय सिंह ने डेढ़ महीने पहले ही चुनाव की तैयारियां शुरू कर दीं थीं। कमलनाथ ने चुनौती दी थी और उन्होंने खुलेआम स्वीकार की थी। यह कुछ ऐसे हुआ था मानो दोनों के बीच फिक्स हो, तुम चुनौती वाला बयान देना, मैं स्वीकृति वाला बयान दूंगा और फिर वीर यौद्धा कहलाउंगा। शुरूआत में भाजपा के पास प्रत्याशी नहीं था। भाजपा की तलाश पूरी हो पाती तब तक तो दिग्विजय सिंह आधा भोपाल नाम चुके थे। चुनाव से 15 दिन पहले दिग्विजय सिंह ने कहा था कि अब बस 60 हजार वोटों की जरूरत है। लेकिन आज जो नतीजे आए वो दिग्विजय सिंह की समझ और गणनाओं पर सवाल उठा रहे हैं। 

किसे कितने वोट मिले
DIGVIJAYA SINGH Indian National Congress 501660 35.63
SADHVI PRAGYA SINGH THAKUR Bharatiya Janata Party 866482 61.54
जीत का अंतर: 364822
20147 में जीत का अंतर: 370696