Loading...

भाजपा को वोट मत देना वरना चाय ही बिकवा देगी: किसान ने सुसाइड नोट में लिखा | NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। उत्तराखंड में एक किसान ने जहरीदे पदार्थ का सेवन करके सुसाइड कर लिया। वो बैंक लोन फ्रॉड का शिकार था। उसने सुसाइड नोट में अपनी मौत की वजह तो लिखी ही, साथ ही यह भी लिखा कि भाजपा को वोट मत देना। सुसाइड नोट में उनसे भाजपा के प्रति जमकर भड़ास निकाली है। 

उत्तराखंड के लक्सर के ढाढेकी गांव के ईश्वरचंद को एक दलाल ने बैंक से लोन दिलवाने का दावा किया था। लोन दिलवाते समय दलाल ने किसान से ब्लैंक चेक ले लिया था। लोन का पैसा आते ही दलाल ने चेक से सारी रकम निकाल ली। किसान को एक रुपया भी नहीं मिला था। उधर, बैंक ने किसान पर कर्ज़ वापसी के लिए दबाव बनाया हुआ था। परेशान किसान ने 8 अप्रैल की सुबह सल्फास खाकर आत्महत्या कर ली थी। पुलिस को किसान की जेब से एक सुसाइट नोट मिला था।

इस नोट में किसान ने धोखाधड़ी करने वाले दलाल का नाम लिखकर उसे अपनी आत्महत्या के जिम्मेदार ठहराया था। इसके अलावा किसान ने बीजेपी सरकार को किसानों की दुर्दशा का ज़िम्मेदार ठहराते हुए उसे वोट न देने की अपील भी की थी। ईश्वरचंद ने लिखा: “पांच साल में भाजपा सरकार किसान को खत्म और नष्ट करेगी। इसे वोट मत देना वरना चाय ही बिकवा देगा। किसान पर पांच साल में हर काम बंद किया भाजपा सरकार ने किसान खत्म किया भाजपा सरकार ने, आधे किसान दुखी हैं इस सरकार में।
ईश्वर चंद” 

इसके अलावा किसान ने बैंक दलाल अजित सिंह (राठी) का नाम लेकर लिखा है कि उसने ईश्वरचंद के कृषि कार्ड से 2012, 2013 और 2014 में 4-5 बैंकों से चार-पांच लाख रुपये लोन लिए। पुलिस ने ईश्वरचंद के बेटे की शिकायत पर अजित सिंह के ख़िलाफ़ धारा 306 के तहत केस दर्ज कर लिया है।