Loading...

भाजपा प्रत्याशी ने खजराना के गणेशजी को चढ़ाया भाजपा का चोला, शिकायत | INDORE MP NEWS

भोपाल। कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वी.एल.कांताराव से मिल कर उन्हें भाजपा के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान व इंदौर- झाबुआ के भाजपा प्रत्याशियों की आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत दर्ज करवाकर उन पर कड़ी कार्यवाही की माँग की है। इंदौर में भाजपा प्रत्याशी ने नामांकन भरने से पहले विश्वविख्यात खजराना के गणेश मंदिर में भगवान की प्रतिमा को भाजपा झंडे के रंग का चोला ओढ़ाया​ जिस पर भाजपा का चुनाव चिन्ह भी था। 

झाबुआ में कांतिलाल भूरिया का चरित्र हनन 

पीसीसी से जारी प्रेस रिलीज के अनुसार प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने झाबुआ में आयोजित एक सभा में कांग्रेस प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया जी को लेकर कहा कि ‘‘तीर छोड़ दिया है। पुत्र के बाद अब बारी पिता की है, क्या आप लोग लगायेंगे निशाना।“ उनका यह बयान आपत्तिजनक होने के साथ-साथ हिंसात्मक गतिविधियों को बढ़ावा देने वाला है। साथ ही इस अवसर पर झाबुआ के भाजपा प्रत्याशी गुमान सिंह डामोर ने कांग्रेस के प्रत्याशी कांतिलाल भूरिया को लेकर व्यक्तिगत व बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी की। उन्होंने भूरिया जी पर चारित्रिक टिप्पणी कर उनकी छवि को बिगाड़ने का प्रयास किया। चुनाव आयोग के स्पष्ट निर्देश है कि चुनाव के दौरान व्यक्तिगत आरोप- प्रत्यारोप, निजी टिप्पणियाँ, अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। उसके बावजूद उनकी कांतिलाल भूरिया जी के प्रति टिप्पणी चुनाव आयोग के निर्देशों की अवहेलना है। आचार संहिता का उल्लंघन है।

इंदौर के भाजपा प्रत्याशी शंकर लालवानी द्वारा कल नामांकन भरने के पूर्व खजराना गणेश मंदिर की पूजा अर्चना के दौरान भगवान गणेश जी की मूर्ति को भाजपा के झंडे वाले वस्त्र पहनाये गये। जिन पर भाजपा का चुनाव चिन्ह कमल का फूल भी बना हुआ था। चुनाव आयोग के स्पष्ट निर्देश है कि धार्मिक भावनाओं के आधार पर व धार्मिक स्थानो पर राजनैतिक दल व प्रत्याशी प्रचार-प्रसार नहीं कर सकते है। भाजपा प्रत्याशी का यह कृत्य बेहद आपत्तिजनक है व धार्मिक भावनाओं के साथ खिलवाड़ भी है। अतः भाजपा प्रत्याशी के खिलाफ तत्काल प्रकरण दर्ज कर उनका नामांकन निरस्त किया जावे। प्रतिनिधिमंडल में नरेन्द्र सलूजा, भूपेन्द्र गुप्ता, फिरोज सिद्दीकी, ब्रजभूषण नाथ, विवियन खोंगल, अवनीश बुंदेला, प्रवीण धौलपुरे, मिथुन अहिरवार, नितेश नरवले, किरण वैध आदि उपस्थित थे।