Loading...

प्रज्ञा सिंह तो एक सीधी साधी लड़की थी: कमलनाथ के मंत्री एवं प्रज्ञा के पड़ौसी ने कहा | BHOPAL NEWS

भोपाल। भोपाल से लोकसभा चुनाव लड़ रहीं साध्वी प्रज्ञा सिंह के पड़ौसी एवं कमलनाथ सरकार में मंत्री गोविंद सिंह का कहना है कि प्रज्ञा तो एक सीधी साधी लड़की थी। उसका कोई दोष नहीं है। RSS और ABVP ने उसका ब्रेन-बॉश करके उसे आपराधिक प्रवृति का बना दिया। बता दें कि प्रज्ञा सिंह मूलत: भिंड की रहने वालीं हैं। 

मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार में मंत्री गोविंद सिंह का कहना है कि साध्‍वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर एक सीधी-सादी लड़की थी, लेकिन उसे बिगड़ाने का काम RSS और ABVP ने किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रज्ञा का RSS ने ब्रेन-बॉश करके उसे आपराधिक प्रवृति का बना दिया। साथ ही हिंदू-मुस्लिम को लड़ाने का काम सिखा दिया। गोविंद सिंह का आरोप है कि प्रज्ञा दोषी नहीं है, बल्कि RSS और बीजेपी दोषी है। गोविंद सिंह ने कहा कि लोकसभा चुनाव में प्रज्ञा ठाकुर का असर उनके गृह जिले के वार्ड में नहीं है तो भोपाल में क्या होगा। 

प्रज्ञा सिंह का जन्म एवं परिवार

प्रज्ञा सिंह ठाकुर का जन्म 2 फरवरी 1970 को हुआ था। मध्य प्रदेश के भिंड में प्रज्ञा ठाकुर के पिता डॉ. चंद्रपाल सिंह एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक डॉक्टर थे और प्राकृतिक जड़ी बूटियों से मरीजों का इलाज करते थे। प्रज्ञा सिंह ठाकुर मध्यप्रदेश (भिण्ड जिला) के एक मध्यवर्गीय कुशवाहा राजपूत परिवार से हैं। उनके पिता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक थे। प्रज्ञा ने भिंड के लाहार कॉलेज से इतिहास में स्नातकोतर तक पढ़ाई की। 

सन्यास के बाद प्रज्ञा सिंह का नाम महामण्डलेश्वर स्वामी पूर्णचेतनानन्द गिरी है

सन्यास के बाद प्रज्ञा सिंह ठाकुर का नाम भी बदल गया है। प्रज्ञा सिंह को सन 2019 के प्रयागराज कुम्भ के अवसर पर उन्हें 'भारत भक्ति अखाड़े' का आचार्य महामण्डलेश्वर घोषित किया गया था और अब वे 'महामण्डलेश्वर स्वामी पूर्णचेतनानन्द गिरी' के नाम से जानी जाती हैं।