Loading...

ब्रेकअप के बाद भी फोन लगाता था इसलिए हत्या की, लाश रेत में दबा दी | CHHATARPUR MP NEWS

सुनील विश्वकर्मा। मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले के हरपालपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम मवैया के बफरा नाले में दिनांक 8 अप्रैल को सरपंच द्वारा पुलिस को सूचना दी थी की बफरा नाले में एक अज्ञात व्यक्ति की लाश क्षत विक्षत अवस्था मे नाले में रेत के नीचे दबी हुई पड़ी है। सूचना पर मौके पर थाना पुलिस हरपालपुर पहुँची और जांच के दौरान मृतक की पहचान मोहित पिता रामसिंह राजपूत निवासी रगौली के रूप में की गई। पीएम रिपोर्ट में गला घोंटकर हत्या होना पाया गया।  

पुलिस अज्ञात आरोपियों पर हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू की। जांच में छानबीन करने पर पता  चला कि मृतक मोहित राजपूत के साथ मवैया गांव की एक लड़की से एक साल से प्रेम संबंध थे। प्रेम प्रसंग के बारे लड़की के परिवार वालो को पता चला तो उन्होंने मोहित राजपूत को कई बार समझाया लेकिन मोहित राजपूत नही माना। घटना के लगभग 2 माह पूर्व लड़की की शादी हो गयी। लड़की ने मोहित से ब्रेकअप कर लिया लेकिन शादी के बाद भी मोहित राजपूत लड़की से लगातार फोन से बात करता था और मिलने के लिए बुलाता था। 

हद तो तब हुई जब ससुराल में मिलने चला आया


दिनांक 3 अप्रैल 19 मोहित राजपूत लड़की की ममिया ससुराल में मिलने चला गया। यह बात लड़की के पति को पता चलने उसने यह बात लडक़ी के भाई एवं परिवार वालों को बताई। इसी बात को लेकर लड़की के परिवार वालों ने 5 अप्रैल 2019 की दरम्यानी रात लड़की के चाचा मोहन अहिरवार व मकुंदी अहिरवार की सहमति से षडयंत्र पूर्वक महेश, महेंद्र, गंगा अहिरवार निवासी मवैया ने मिलकर मोहित राजपूत की गला दबाकर उसकी हत्या कर दी और शव को नाले में रेत में दबाकर फरार हो गए। 

पुलिस ने आरोपियों की लगातार तलाश कर दिनांक 14 अप्रैल को आरोपीगण महेश, महेंद्र, गंगा, मोहन अहिरवार को गिरिफ्तार कर कड़ी पूछताछ की गई तो सभी ने मोहित राजपूत की मिलकर हत्या करना स्वीकार की। मृतक का मोबाईल व सामान भी आरोपियों के पास से बरामद किया गया गया घटना एक आरोपी अभी भी फरार है। अंधे कत्ल के खुलासे के बाद सोमवार को कोर्ट में पेश किया यहाँ से चारो आरोपियों को जेल भेज दिया गया।

घटना का खुलासा करने वाली टीम 


थाना प्रभारी निरीक्षक रामबाबू चौधरी, थाना प्रभारी अलीपुरा बलराम सिंह राठौर, एसआई  भुवनेश शर्मा,विकास सिंह,व्ही0पी0 गौटिया,स0उ0नि0 करन सिंह यादव,साइबर सैल से किशोर रैकवार, व शैलेन्द्र सिंह,प्रधान आरक्षक गिरिश तिवारी,शिवपाल सिंह,ब्रजपाल सिंह, पहाड़ सिंह, मुकेश, आशीष नायक,हरेन्द्र, प्रमोद,बलराम,आरक्षक चालक धर्मेंद्र यादव,महिला आरक्षक रजनी विश्वकर्मा,शिवानी की भूमिका रही है पुलिस अधीक्षक छतरपुर तिलक सिंह ने अंधेकत्ल का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की।