Loading...

किसान को SMS नहीं मिला फिर भी गेंहू खरीदा जाएगा: कलेक्टर के आदेश | BHOPAL NEWS

भोपाल। पिछले तीन दिनों से एनआईसी (NIC) से भेजे जा रहे एसएमएस (SMS) न मिलने से हो रही परेशानी को देखते हुए कलेक्टर सुदाम खाडे (Collector Sudam Khade) ने सभी कृषि उपज खरीदी (Bought agricultural produce) केंद्र प्रभारियों को बिना एसएमएस वाले किसानों से भी गेहूं खरीदने के आदेश दिए हैं। आदेश में कहा गया है कि इन किसानों का खरीदी केंद्र पर पंजीयन होना जरूरी है। जिसके तहत खरीदी केंद्र पर पहले एसएमएस वाले किसानों का गेहूं खरीदा जाए, इसके बाद बिना एसएमएस (SMS) वाले किसानों का गेहूं भी खरीदा जाना चाहिए। 

इसके पहले गुरुवार को खरीदी केंद्रों पर किसान समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचने के लिए पहुंचे, लेकिन खरीदी केंद्र (Shopping Center) की मैपिंग नहीं होने से किसान फसल नहीं बेच पाए। इसकी सूचना मिलने के बाद कलेक्टर खाडे ने आदेश जारी करके कहा कि बिना एसएमएस मिले आने वाले किसानों की फसल खरीदी जाए ताकि उन्हें किसी भी तरह की परेशानी न हो सके। जिला प्रशासन के अफसरों के मुताबिक कलेक्टर के आदेश का पालन शुरू कर दिया गया है। खरीदी केंद्रों पर आने वाले किसानों को किसी तरह की परेशानी नहीं होने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह की परेशानी होने पर इसकी शिकायत कलेक्टोरेट में की जा सकती है। जांच में दोषी पाए जाने वाले अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। 

सही जानकारी की कमी 

स्टील सायलो मुंगालियाकोट के प्रभारी आशुतोष पुरोहित (Ashutosh Purohit) के अनुसार अब तक यहां 7800 क्विंटल गेहूं की खरीदी हो चुकी है। नियमानुसार जिन किसानों को जिला प्रशासन से संदेश पहुंचने के बाद उपज लेकर आना होता है लेकिन अधिकारी द्वारा संदेश व्यवस्था को दुरुस्त नहीं किया जा रहा है। इधर, बैरसिया विधायक विष्णु खत्री ने कलेक्टर सुदाम पी खाडे से मुलाकात कर किसानों की सहूलियत के लिए खरीदी केंद्रों की संख्या को बढ़ाने की मांग की है। विधायक ने काछी बरखेड़ा का खरीदी केंद्र स्टील सायलो से हटाकर रासलाखेड़ी में बनाए जाने का विरोध किया है।