Advertisement

कमलनाथ सर, मप्र में बिजली नहीं कांग्रेस के वोट कट रहे हैं | MP NEWS



भोपाल। मध्यप्रदेश में इन दिनों बिजली कटौती शुरू हो गई है। मेंनटेंस के नाम पर घंटों बिजली कटौती की जा रही है। हालात यह हैं कि बिजली कंपनी ने पूरे महीने का प्लान बनाकर तैयार कर लिया है। ग्रामीण और छोटे शहरी इलाकों के अलावा भोपाल एवं इंदौर जैसे शहरों में भी कटौती नियमित रूप से की जा रही है। 

इंदौर में गर्मी का मौसम आते ही बिजली कंपनी ने मेंनटेंस के नाम पर अगले एक महीने तक बिजली कटौती करने का प्लान तैयार कर लिया है। यह कटौती कहीं सुबह, तो कहीं दोपहर, तो कहीं शाम होगी। बिजली कंपनी ने इसकी अधिकृत घोषिणा की है। बावजूद इसके कटौती तीन से चार घंटों तक हो सकती है। पश्चिम क्षेत्र में रोड चौड़ीकरण, स्मार्ट सिटी के कार्य एवं लाइन रख-रखाव के लिए कटौती की जा रही है। कंपनी 16 मार्च से 13 अप्रैल तक कटौती करेगी।

मध्यप्रदेश के ज्यादातर इलाकों में बिना सूचना के भी बिजली कटौती की जा रही है। लोग इसे लेकर तरह तरह के सवाल उठा रहे हैं और भाजपा इसे एक अवसर की तरह उपयोग कर रही है। बिजली कटौती के कारण लोगों को दिग्विजय सिंह युग की याद आने लगी है। लोगों में दहशत है कि लोकसभा चुनाव से पहले यदि ये हालात हैं तो चुनाव के बाद क्या होगा।