Loading...

कैलाश विजयवर्गीय के प्रभार वाले पश्चिम बंगाल से अब मप्र के अफीम तस्कर भी कनेक्ट | MP NEWS

भोपाल। इंदौर के धाकड़ भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय को प्रभार मिलने से पहले तक मध्यप्रदेश के लोग पश्चिम बंगाल के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानते थे परंतु कैलाश विजयवर्गीय सोशल मीडिया के जरिए मध्यप्रदेश को बार बार बताते रहते हैं कि वहां क्या कुछ चल रहा है। अब खबर आ रही है कि मध्यप्रदेश के अफीम तस्कर भी पश्चिम बंगाल से कनेक्ट हो गए हैं। बीते रोज भोपाल एसटीएफ ने 1 करोड़ रुपए का अफीम पाउडर जब्त किया है। इसके साथ 3 तस्कर भी पकड़े गए हैंं। 

एसटीएफ ने तीनों तस्करों से एक किग्रा फाइन ओपियम (अफीम का परिष्कृत पाउडर) जब्त किया है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत एक करोड़ रुपए आंकी गई है। तीनों अंतरराज्यीय तस्कर ये पाउडर पश्चिम बंगाल के मालदा से 20-25 लाख रुपए प्रति किग्रा की दर से खरीदते थे। मप्र, राजस्थान और उप्र के अलग-अलग शहरों में इसे 60-65 लाख रुपए प्रति किग्रा की दर से बेच दिया जाता था। आरोपी यहां अपने ग्राहक के आने का इंतजार कर रहे थे। पकड़े गए आरोपियों में रतलाम निवासी दीपक लोढा (24), मंदसौर निवासी अहमद हुसैन (32) और अर्जुन (25) शामिल हैं।

मप्र के तस्कर पश्चिम बंगाल से कैसे कनेक्ट हुए

इस सवाल का जवाब तो पुलिस ने नहीं दिया, हां यह जरूर बताया कि पकड़े गए आरोपियों ने पूछताछ में खुलासा किया है कि फाइन ओपियम वे पश्चिम बंगाल के मालदा जिले से खरीदकर लाए हैं। अब तक ये मादक पदार्थ मंदसौर या नीमच से लाते थे। ऐसा पहली बार हुआ है, जब देश के नॉर्थ ईस्ट से राजधानी में फाइन ओपियम की तस्करी हो रही थी। क्योंकि मंदसौर-नीमच की अपेक्षा तस्करों को प. बंगाल से लाई गई फाइन ओपियम ज्यादा सस्ती पड़ती है।