Loading...

मैं 13 साल माला लेकर शिवराज सिंह चौहान का इंतजार करता रहा: सिंधिया | MP NEWS

भोपाल। सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की हाल ही में हुई अशोकनगर यात्रा पर तंज कसा है। सिंधिया ने कहा कि मैं 13 साल खुद माला लेकर शिवराज सिंह चौहान का इंतजार करता रहा लेकिन वे कई बार आमंत्रण देने के बाद भी नहीं आए, बल्कि हमेशा अन्य जगहों से होकर निकल गए। अब जब जनता ने उनका बोरिया बिस्तर बांध दिया तो कहते हैं कि देर से आए लेकिन दुरुस्त आए। 

मोदी और शिवराज दोनों नौटंकी मास्टर

मंगलवार की सुबह अग्रवाल पैलेस में पोलिंग एजेंटों को संबोधित करते हुए सांसद सिंधिया ने पोलिंग एजेंटों से कमर कसने के लिए कहते हुए बोले- इस बार गुना-शिवपुरी में नया कीर्तिमान स्थापित करना है। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जोड़ी को लोगों के आंखों में धूल झोंकने वाली जोड़ी बताया। सांसद सिंधिया ने कहा कि एक नौटंकी मास्टर यहां हैं तो दूसरे नौटंकी मास्टर साहब वहां हैं। एक की बोरियां बिस्तर तो आपने बांध दी अब बारी दूसरे नौटंकी मास्टर की है। उनका बोरिया बिस्तर बांधकर अब रवाना करने का समय आ गया है। 

अशोकनगर क्यों नहीं आए थे शिवराज सिंह

दरअसल, शिवराज सिंह चौहान अंधविश्वासी हैं। अशोकनगर के साथ एक अंधविश्वास जुड़ा हुआ है। कहा जाता है कि यहां जो भी मुख्यमंत्री आता है, उसे अपनी कुर्सी छोड़नी पड़ती है, लौटने क बाद वो मुख्यमंत्री नहीं रहता। ऐसा ही मिथक सीहोर जिले के आष्टा के बारे में भी है। इसी कारण शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री रहते हुए कभी अशोकनगर नहीं आए। बता दें कि नोएडा के बारे में भी ऐसा ही मिथक है परंतु योगी आदित्यनाथ ने सीएम बनते ही इसे तोड़ा। वो कई बार नोएडा गए। तब पीएम मोदी ने यह भी कहा था कि जो अंधविश्वासी है उसे मुख्यमंत्री रहने का अधिकार नहीं।