Loading...

प्रीति के प्यार में हुई साड़ी कारोबारी हेमंत जैन की हत्या | GWALIOR MP NEWS

ग्वालियर। पुलिस ने साड़ी कारोबारी हेमंत जैन की हत्या का खुलासा कर दिया है। हेमंत जैन की मौत का कारण प्रीति का प्यार निकला। प्रति, हेमंत जैन की पत्नी है परंतु मृदुल गुप्ता नाम के युवक से उसका अफेयर चल रहा था। प्रीति, अपने पति हेमंत जैन को हर रोज धीमी मौत दे रही थी। इस सबसे बेखबर हेमंत जैन प्रीति को प्यार करता था इसलिए उसने तलाक लेने के बजाए मृदुल गुप्ता से विवाद किया, ताकि मृदुल प्रीति से मिलना छोड़ दे और उसका दाम्पत्य जीवन सुखपूर्वक चलता रहे। यही विवाद हेमंत की मौत का कारण बना। 

पुलिस ने कहा कि आरोपियों से पूछताछ में यह कहानी सामने आई है, रविवार को मृदुल गुप्ता अपने साथी के साथ हेमंत जैन के घर पहुंचा। साथी को कुछ भी पता नहीं था। मृदुल जब वहां पहुंचा, तब हेमंत जैन नींद की गोली के नश में थे। मृदुल ने दरवाजा नॉक किया। आधी नींद में हेंमत ने जैसे ही दरवाजा खोला मृदुल ने हाथ में पहने कड़े से उसके सिर पर वार कर दिया, फिर लात मारी, जिससे हेमंत के सिर का पिछला हिस्सा तेजी से टेबल के कोने पर लगा। सिर में गंभीर चोटें आईं। जब बात बढ़ गई तो मृदुल और प्रीति ने हेमेत की हत्या करने ठान ली। प्रीति तकिया लेकर आ गई। फिर दोनों ने मिलकर तकिए से हेमंत का मुंह व गला तब तक दबाए रहे, जब तक उनकी मौत नहीं हो गई। 

घर छोड़कर इंदरगंज में रहने आया था हेमंत
एएसपी सतेंद्र तोमर ने बताया, हेमंत जैन की हत्या के आरोपी मृदुल गुप्ता से प्रीति के लगभग डेढ़ वर्ष से अवैध संबंध थे। मृदुल के संबंधों के कारण ही दोनों के बीच विवाद होते रहते थे। इसकी पुष्टि हेमंत की बेटी व बेटे ने भी की है। इसी कारण पूर्व में दानाओली वाला फ्लैट छोड़कर हेमंत परिवार के साथ इंदरगंज स्थित अपार्टमेंट में रहने आ गए थे।

प्रीति हर रोज धीमा जहर दे रही थी
पुलिस सूत्रों ने बताया कि बार-बार झगड़े के चलते प्रीति और मृदुल, हेमंत को रास्ते से हटाने का षडयंत्र रच चुके थे। इसी के तहत प्रीति हेमंत को तीन दिन से नींद की गोलियां खाने में मिलाकर दे रही थी। हेमंत सोने से पहले नींद की गोली खुद भी खाते थे। इस तरह हेमंत को डबल डोज दिया जा रहा था। बता दें कि नींद की गोलियों की मात्रा बढ़ा देने से अटैक का खतरा बढ़ जाता है। प्रीति की प्लानिंग थी कि हेमंत की मौत, बीमारी से हुई, ऐसा लगे परंतु इससे पहले मृदुल गुस्से में आ गया। 

मृदुल को धमकी भरे मैसेज भेजे थे
मृदुल गुप्ता खुद मंगलवार को दोपहर इंदरगंज थाने में पहुंच गया। उससे पुलिस ने पूछताछ की और उसकी निशानदेही पर खून से लथपथ डबलबेड की चादर व दो तकिए बरामद कर लिए। पूछताछ में मृदुल ने बताया कि घटना वाले दिन हेमंत ने उसे धमकी भरे मैसेज भी मोबाइल पर भेजे थे। इसी विवाद के चलते वो हेमंत के घर गया था। उसे अनुमान नहीं था कि हेमंत गंभीर रूप से घायल हो जाएगा और उसे मारना पड़ेगा। 

सीसीटीवी कैमरे से पकड़े गए
अपार्टमेंट में सीसीटीवी कैमरे लगे थे जिसमें मृदुल गुप्ता और उसका दोस्त आदेश आते हुए दिखे। वो डेढ़ घंटे तक अपार्टमेंट में रहे। वो हेमंत के घर से निकलते हुए भी दिखे। प्रीति उनके पीछे आई। उसने सुनिश्चित किया कि दोनों चले गए हैं तब अंदर गई, कपड़े बदले और फिर पड़ौसियों को बुलाकर बताया कि हेमंत का एक्सीडेंट हो गया है।