Loading...

SAPAKS PARTY 5 राज्यों की 28 सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी

भोपाल। सरकारी कर्मचारियों को प्रमोशन में आरक्षण के खिलाफ अनारिक्षत कर्मचारियों के संगठन 'समान्य पिछड़ा वर्ग अधिकारी/कर्मचारी संगठन यानी सपाक्स' से जन्मी सपाक्स पार्टी मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले काफी ताकतवर नजर आती थी परंतु चुनाव परिणामों के साथ ही लुप्त हो गई। अब लोकसभा चुनाव से पहले सपाक्स पार्टी के अध्यक्ष डॉ. हीरालाल त्रिवेदी एक बार फिर दम भरते नजर आ रहे हैं। उन्होंने 5 राज्यों की 28 सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। इनमें से 14 मध्यप्रदेश में होंगी।  

इच्छुक दावेदारों से आवेदन मांग रही है सपाक्स

सपाक्स पार्टी ने तय किया है कि इस बार आर्थिक और सामाजिक रूप से बेहतर स्थिति वाले उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा। पार्टी ने चुनाव लड़ने के इच्छुक लोगों से आवेदन मंगाना शुरू कर दिया है। अभी तक सात आवेदन आए हैं, जिन पर विचार चल रहा है। बता दें कि पार्टी ने विधानसभा चुनाव में सभी 230 सीटों पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया था परंतु  109 उम्मीदवार  ही उतारे जा सके। इनमें से महज दो उम्मीदवार 9000 वोटों का आंकड़ा पार कर पाए थे। 

जो चुनाव में पैसा खर्च कर सके, उसे ही टिकट देंगे

अब लोकसभा चुनाव की तैयारी कर रही पार्टी ने चयन प्रक्रिया पर विशेष ध्यान देने का फैसला लिया है। पार्टी का कहना है कि उन्हीं सीटों पर उम्मीदवार उतारे जाएंगे, जहां आर्थिक और सामाजिक रूप से सक्षम लोग मिलेंगे, ताकि वे भाजपा, कांग्रेस जैसे दलों के उम्मीदवारों को टक्कर दे सकें। 

जिला संगठनों की राय सर्वोपरि

पिछली बार डॉ. हीरालाल त्रिवेदी ने जिसे चाहा टिकट थमा दिया था। जिला स्तर के पार्टी नेताओं को बताया तक नहीं गया था। इस बार पार्टी नेताओं ने सबक सीख लिया है। अब तय किया है कि दावेदार द्वारा तमाम शर्तें पूरी करने के बाद भी पार्टी सपाक्स की स्थानीय शाखाओं की सलाह को तवज्जो देगी। पार्टी के मुताबिक उम्मीदवार पार्टी की विचारधारा में आस्था रखता हो और आर्थिक एवं सामाजिक रूप से सक्षम हो। पार्टी की विचारधारा में आस्था रखने वाला उम्मीदवार एससीएसटी वर्ग का भी हो सकता है।

इन राज्यों में चुनावी तैयारियां चल रहीं हैं

सपाक्स मध्यप्रदेश की सीमाओं से बाहर जाकर लोकसभा चुनाव लड़ेगी। पार्टी उत्तरप्रदेश की वाराणसी, कानपुर और झारखंड की जमशेदपुर सीट से उम्मीदवार उतारने की तैयारी कर रही है। इसके अलावा मप्र में मंडला सहित 14, राजस्थान में 2 और बिहार में 2 सीटों पर उम्मीदवार उतार सकती है। हालांकि सभी राज्यों में अभी सीटें तय नहीं हुई हैं।

सपाक्स पार्टी को चुनाव चिन्ह मिला

निर्वाचन आयोग ने पार्टी को लोकसभा चुनाव के लिए झूला चुनाव चिन्ह आवंटित किया है। पार्टी इस चिन्ह पर मप्र के साथ हिमाचल, नई दिल्ली, उड़ीसा, बिहार, राजस्थान, उप्र, उत्तराखंड, झारखंड, छग में चुनाव लड़ सकती है।

डॉ. हीरालाल त्रिवेदी, अध्यक्ष, सपाक्स पाटी का बयान

विधानसभा चुनाव में पार्टी की स्थिति को देखते हुए उम्मीदवार चयन में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। कुछ आवेदन आए हैं, जिन पर विचार चल रहा है। विधानसभा चुनाव के लिए उम्मीदवार चयन में जल्दबाजी हो गई थी, जो इस बार नहीं होगी।