LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




MPTET: पेपर जानबूझकर ऐसे बनाए जा रहे हैं कि ज्यादातर उम्मीदवार हल ना कर पाएं | KHULA KHAT @ CM Kamal nath

12 February 2019

नमस्कार महोदय, मैं रामलखन लोधी जिला रायसेन मप्र का एक बेरोजगार युवक हूं। मैंने इस माह में व्यापम द्वारा आयोजित उच्च माध्यमिक भर्ती परीक्षा गणित विषय से दी है, जिसमे अत्यधिक कठिन तथा पाठ्यक्रम से बाहर के प्रश्न आने के कारण 95% अभ्यर्थी उसे उत्तीर्ण नही कर पाए। मैंने शिक्षक भर्ती परीक्षा की तैयारी हेतु अत्यधिक समय तथा धन लगाया था तथा मानसिक दबाव भी अत्यधिक था। अब ऐसा लग रहा है कि जानबूझ कर ऐसी परीक्षा ली जा रही है जिससे कि अधिकांश अभ्यर्थी इसमे सफल ही न हो पाए। 

जिस प्रकार से ये प्रश्नपत्र आया था उसमें 95% अभ्यर्थी 75 अंक भी प्राप्त ही नही कर सके एवं अत्यंत हताश व निराश हो गए है जबकि उन्होंने बहुत मेहनत की थी। यही हाल अन्य सभी विषयों का भी है। उच्च माध्यमिक परीक्षा वर्ग 1 गणित के पाठ्यक्रम में 80% पाठ्यक्रम स्नातक स्तर का और 20% मध्यप्रदेश शासन द्वारा चलित 11th 12th पाठ्यक्रम में से दिया जाना था लेकिन परीक्षा में उन्होंने 80% पाठ्यक्रम से कुछ भी नहीं दिया तथा ऐसे ऐसे प्रश्न दिए गए जो 2.30 घन्टे में हल ही न हो पाए। जबकि सभी लोगो ने इसकी तैयारी पाठ्यक्रम के अनुरूप ही की थी।

नियम पुस्तिका में स्पष्ट रुप से लिखा था कि पेपर की मुख्य विषय की विषय वस्तु स्नातक स्तर की होगी और जो भी प्रश्न 11वीं 12वीं कक्षा से पूछे जाएंगे उनका कठिनाई स्तर भी स्नातक स्तर का होगा। इस प्रकार भ्रमित करने वाला सिलेबस हमें दिया गया। सभी लोगों ने कम दिन होने के कारण सिर्फ अस्सी परसेंट सिलेबस का ही रिवीजन कर पाये और पेपर में गणित के हिसाब से बहुत ही बड़े प्रश्न दिये गये और समय भी कम दिया गया थे जिन में काफी समय लग रहा था और कुछ तो निर्धारित पाठ्यक्रम से बाहर के थे और ज्यादातर प्रश्नों में 5-6 मिनिट का समय लग रहा था इस कारण से हम लोग 40-50 प्रश्नों को तो देख भी नहीं पाए और अधिकांश लोगों के नंबर 50 से 65 के बीच में ही है बहुत ही कम  लगभग 5% लोगों के ही नंबर 75 आए हैं अतः आपसे अनुरोध है की आप हमारी सहायता करें और गणित विषय की परीक्षा पुनः कराने की कृपा करे।

जिससे हम भी रोजगार पा सके इसके लिए मध्य प्रदेश के समस्त गणित विषय के अभ्यर्थी/ उम्मीदवार आपके बहुत बहुत आभारी रहेंगे। क्योंकि सिलेबस इतना बड़ा और समय इतना कम दिया गया जबकि इसी पेपर के लिए SET 3 घंटे का समय देता है और ऑनस्क्रीन केलकुलेटर भी देता है। व्यापम द्वारा आयोजित परीक्षा में किसी भी मापदण्ड का ध्यान नही रखा गया  जो कि गणित वालों के साथ तो साक्षात अन्याय है हमें आशा है कि आप हमारी मदद अवश्य करेंगे ।  व्यापम ने जल्दबाजी में बिना किसी मापदण्ड का पालन किये प्रश्नपत्रों का निर्माण करवा लिया था जिसके कारण हजारो उम्मीदवार को अब मानसिक परेशानी झेलनी पड़ रही है। ऐसी परीक्षा के कारण अधिकांश पद रिक्त रह जाएंगे तथा योग्य युवाओं को रोजगार भी नही प्राप्त हो पायेगा जिसमे उनमे हताश और आक्रोश की भावना आ गई है। 

अब माननीय मुख्यमंत्री जी से ही हमारी उम्मीदे है कि आप इस परीक्षा को निरस्त कर किसी अन्य संस्था या आयोग से परीक्षा कराए क्यूंकि व्यापम राजपत्रित अधिकारी की परीक्षा का आयोजन नहीं करा सकता। माननीय हमारे भविष्य को बर्बाद होने से बचाए जिससे हजारों युवा आपके बहुत बहुत आभारी होंगे तथा हम सबका भविष्य भी बन जायेगा। 
रामलखन लोधी
जिला रायसेन एवम्
समस्त बेरोजगार युवा मध्य प्रदेश



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->