Loading...

सरकार का ‘वन्दे मातरम’, क्या MLA आरिफ मसूद शामिल होंगे | MP NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश की कमलनाथ ( KAMAL NATH ) सरकार का ‘वन्दे मातरम’ गायन कार्यक्रम 1 मार्च को आयोजित किया जा रहा है। यह सरकारी कार्यक्रम है, सवाल यह उठा खड़ा हुआ है कि क्या मंत्री पद के दावेदार और विधायक आरिफ मसूद ( MLA Arif Masood ) इस सरकारी कार्यक्रम में शामिल होंगे। बता दें कि हाल ही में विधायक आरिफ मसूद ( MLA Arif Masood ) ने बयान दिया है कि वो शरियत से समझौता नहीं कर सकते और किसी भी स्थिति में ‘वन्दे मातरम’ ( VANDE MATARAM ) नहीं बोलेंगे।



CONGRESS ने कहा राष्ट्रीय भावना जागृत करने ‘वन्दे मातरम’

मध्यप्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने कहा कि भोपाल में ‘वन्दे मातरम’ का गायन नए स्वरूप में जनता की सहभागिता के साथ एक फरवरी से गरिमामय स्वरूप में प्रारंभ हो गया है। उन्होंने कहा कि हर महीने की पहली तारीख के निर्धारित कार्यक्रमानुसार इस माह भी एक मार्च को पुलिस बैण्ड के साथ राष्ट्रीय भावना को जाग्रत करने वाले गीतों की धुन बजाते हुए सुबह साढे़ दस बजे वन्दे मातरम् के उद्घोष के साथ जनसमूह शौर्य स्मारक से वल्लभ भवन पहुंचेगा। पुलिस बैण्ड के वल्लभ भवन प्रांगण पहुंचने पर राष्ट्रीय गान ‘जनगणमन’ और राष्ट्रगीत ‘वन्दे-मातरम्’ गाया जाएगा। वल्लभ भवन प्रांगण में राज्य शासन के अधिकारी-कर्मचारियों के साथ ही कांग्रेसजन और आम नगरिक भी कार्यक्रम में सम्मिलित होंगे।

कांग्रेस विधायक ने कहा: एक गाने से राष्ट्रीय भावना जागृत नहीं होती

विवादित बयान के बाद कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने एक और बयान दिया। उन्होंने कहा कि 'एक गाना गाने से जिस पर एतराज हो, उसे गाने से ये सोचा जाए कि हम मुल्क के कित्ते वफ़ादार हैं तो ये अफसोस होता है। हमसे गाने की जिद वो लोग कर रहे हैं जो खुद अंग्रेजों से माफीनामा मांग के भगे हों, उस टाइम मैदान छोड़ के।' पूरा बयान वीडियो में देखें: