Loading...

घायल को कंधे पर उठाकर इलाज कराने भागा सिपाही | HOSHANGABAD NEWS

भोपाल। मध्यप्रदेश में पुलिस का नाम सुनते ही लोगों में नफरत भर आती है। यह एक ऐसा विभाग है जहां लोगों से उस समय रिश्वत वसूली जाती है जब वो परेशानी में होते हैं। कई बार तो रिपोर्ट लिखाने तक के लिए रिश्वत देनी होती है। शिकायतें हर रोज सामने आतीं हैं लेकिन आज एक ऐसी तस्वीर सामने आई है जिसे हर कोई सेल्यूट कर रहा है। 

मामला होशंगाबाद जिले के सिवनी-मालवा के शिवपुर थाना के पीपल गांव का है। डायल-100 को भोपाल से जानकारी मिली थी कि एक युवक चलती ट्रेन से गिर गया है। सूचना मिलते ही आरक्षक पूनम बिल्लोरे और गाड़ी का ड्राइवर राहुल साकल्ले बिना देर किए घटना स्थल पर पहुंच गए लेकिन मौके पर जाने पर पता चला कि पटरी तक जाने के लिए सड़क ही नहीं है। ऐसे में डायल-100 की गाड़ी घटनास्थल तक नहीं पहुंच पाएगी। जिसके बाद डायल 100 के पुलिसकर्मी पूनम बिल्लोरे पैदल चलकर घटनास्थल तक पहुंचे और घायल को अपने कंधे के ऊपर रखकर पटरियों के रास्ते डेढ़ किलोमीटर दौड़े, इसके बाद एंबुलेंस से सिवनी मालवा के सरकारी अस्पताल पहुंचाया।

घायल युवक की पहचान अजीत पिता शिवशंकर 20 साल के रूप में हुई है। उसे गंभीर हालत में सिवनी मालवा अस्पताल में भर्ती कराया गया। प्रारंभिक उपचार के बाद भोपाल के लिए रेफर कर दिया गया है। फिलहाल विभाग ने तो सिपाही की प्रशंसा नहीं की है परंतु पूरा प्रदेश पूनम बिल्लोरे को शाबाशी दे रहा है और निश्चित रूप से समाज की आवाज विभाग के आला अधिकारियों तक भी पहुंचेगी।