Loading...

ATITHI SHIKSHAK के आंदोलन का ऐलान, सम्मान या विरोध सरकार पर छोड़ा | MP EMPLOYEE NEWS

भोपाल। संयुक्त अतिथि शिक्षक संघ जिला रायसेन के कार्यकारी जिला अध्यक्ष राम लखन लोधी के द्वारा बताया गया कि संयुक्त अतिथि शिक्षक संघ म.प्र. के तत्वाधान में 2 मार्च 2019 दिन शनिवार को प्रदेशध्यक्ष श्री राजू मीणा के नेतृत्व में भोपाल के शाहजहानी पार्क में महा आंदोलन का आयोजन किया जा रहा है। यदि शासन और सरकार 1 मार्च तक अतिथि शिक्षकों को नियमित करने का आदेश करती है तो ये सरकार के लिए सम्मान समारोह होगा अन्यथा आक्रोशित महा आंदोलन। अब ये सरकार को सुनिश्चित करना है कि उसे सम्मान करवाना है या महा विरोध।

संयुक्त अतिथि शिक्षक संघ के रायसेन जिला अध्यक्ष एवं प्रदेश कोषाध्यक्ष श्री हरि गोविंद मीणा के अनुसार "कांग्रेस सरकार ने वचन पत्र में कहा था हमारी सरकार आने पर हम 3 माह में अतिथि शिक्षकों को विभागीय परीक्षा लेकर नियमित करेंगे परंतु आज तक केवल पूर्ववर्ती सरकार की तरह केवल और केवल आश्वासन के अलावा कुछ भी नहीं दिया जा रहा जिसको लेकर अतिथि शिक्षकों में आक्रोश है आगामी लोकसभा चुनाव से पूर्व यदि हमें हमारा अधिकार नहीं दिया जाता तो हम विरोध प्रदर्शन करने के लिए विवश होंगे। 

हम घर घर जाकर सरकार की कथनी और करनी की पोल खोल आंदोलन चलाएंगे क्योंकि सरकार बनवाने में अतिथि शिक्षकों का महत्वपूर्ण योगदान है 10 वर्षों से शोषित अतिथि शिक्षकों का समय से पूर्व निदान किया जाना चाहिए नहीं तो इसका खामियाजा आगामी लोकसभा चुनाव में देखने को मिलेगा"। अतः संघ के समस्त पदाधिकारियों की तरफ से सभी अतिथि शिक्षको से अपील की जाती है कि 1 मार्च शाम से ही शाहजहानी पार्क पहुंचने की कृपा करे।

विदिशा से 3000 अतिथि शिक्षक आंदोलन में जाएंगे

प्रदेश की कमलनाथ सरकार द्वारा वचन पत्र में किये गए वादे को पूर्ण कराने की मांग को लेकर प्रदेश भर के अतिथि शिक्षक भोपाल के शाहजहानी पार्क में 2 मार्च को एकत्रित होंगे। संयुक्त अतिथि शिक्षक संघ के भोपाल संभाग अध्यक्ष एवं विदिशा जिला अध्यक्ष नरेंद्र सिंह परिहार एवं विदिशा जिला मीडिया प्रभारी आशय खरे ने बताया कि विधानसभा चुनाव के पूर्व कांग्रेस द्वारा जारी वचन पत्र में वादा किया गया था कि 28 फरवरी तक प्रदेश के सभी अतिथि शिक्षकों को नियमित किया जाएगा परंतु नियमितीकरण की प्रक्रिया अभी तक प्रारम्भ नही हुई है इस लिए हम अतिथि शिक्षकों में हताषा एवं निराशा है हम इस सम्मेलन के माध्यम से अपनी ताकत एवं विरोध सरकार को प्रदर्शित करना चाहते हैं। विदिशा जिला उपाध्यक्ष पन्ना लाल लोधी ने बताया कि विदिशा जिले से लगभग 3000 अतिथि शिक्षक इस महासम्मेलन में शामिल होंगे। सभी ने अतिथि शिक्षकों से आह्वान भी किया है कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में शामिल होकर कार्यक्रम को सफल बनायें।