LOKSABHA CHUNAV HINDI NEWS यहां सर्च करें




कौन है अभिषेक मिश्रा जिसे दिल्ली पुलिस उठा ले गई, ऐसा क्या ट्वीट कर दिया था | MP NEWS

23 January 2019

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस आईटी सेल के प्रभारी अभिषेक मिश्रा को दिल्ली पुलिस ने लगभग अपहरण के अंदाज में गिरफ्तार कर लिया। पुलिस सादा वर्दी में बिना पुलिस लिखे वाहन से आए और खुद को आम आदमी पार्टी का कार्यकर्ता बताते हुए मिलने बुलाया। अभिषेक के आते ही उसे उठाकर ले गए। घंटों बाद मध्यप्रदेश पुलिस को आधिकारिक सूचना दी गई कि अभिषेक मिश्रा को उन्होंने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने कहा कि अभिषेक पर धार्मिक भावनाएं भड़काने का आरोप है। सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि उन्होने केंद्रीय गृहमंत्री के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट किया था। पूरा सच थोड़ी देर बाद सामने आएगा, तब तक पढ़ते हैं अभिषेक मिश्रा के कुछ ट्वीट जो आपत्तिजनक कहे जा सकते हैं: 

Abhishek Mishra ने twitter पर खुद को News/Media Personality और RTI Activist बताया है। अभिषेक मिश्रा का @meamabhishek हेंडल Verified account है एवं 63.3 हजार फालोअर्स हैं। Jan 13 को अभिषेक ने लिखा: अमित शाह ने दिल्ली में कहा चुनाव आ रहा है हमें फंड दीजिए... दिल्ली वालो ने: फंड तो नहीं है, इससे मिलता-जुलता कुछ चाहिए तो बताओ...। 


Jan 12 को लिखा Modi Ji din mein 4 baar kapde badalte hain, PM hain kya FTV ke star. (हिंदी रूपांतरण: मोदीजी दिन में 4 बार कपड़े बदलते हैं, प्रधानमंत्री हैं क्या FTV के स्टार)


15 Dec 2018 को लिखा: सीएम कमलनाथ किसानो की क़र्ज़ माफ़ी करने जा रहे हैं...और पोंगा पंडित योगी मूत गोबर में लगा है।


कौन है अभिषेक मिश्रा
अभिषेक मिश्रा का सोशल मीडिया पर केआरके से झगड़ा हुआ और तभी से यह फोकस में आए। इसके अलावा अभिषेक को उस वीडियो के लिए भी जाना जाता है। जिसमें कुछ मोबाइल कंपनियों के बारे में बात की गई थीं यह वीडियो भी काफी वायरल हुए। बताते हैं कि कांग्रेस ज्वाइन करने से पहले अभिषेक आम आदमी पार्टी ज्वाइन करना चाहते थे। दिल्ली जाकर अरविंद केजरीवाल से भी मिले। फिर व्यापमं घोटाले के व्हिसिल ब्लोअर के नजर आए। इस दौरान अभिषेक आरटीआई एक्टिविस्ट भी बन गए। यह बताने की जरूरत नहीं कि व्यापमं घोटाले के व्हिसिल ब्लोअर के माध्यम से अभिषेक की पहुंच पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह तक हो गई और फिर कांग्रेस तक।  इससे पहले मध्यप्रदेश पुलिस ने भी एक बार अभिषेक मिश्रा को गिरफ्तार किया था। तब कहा गया था कि अभिषेक ने तत्कालीन सीएम शिवराज सिंह के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी की थी।

अभिषेक के कारण अरविंद केजरीवाल की खूब खिंचाई हुई थी

अभिषेक उन दिनों भोपाल के बंसल इंजीनियरिंग कॉलेज का स्टूडेंट था। सिविल इंजीनियर कर रहा था। बात नोटबंदी के वक्त की है। अभिषेक ने एक फोटो जिसमें एक युवक फांसी पर लटका हुआ था, ट्वीट करते हुए लिखा एमपी के सतना में एक युवक ने बैंक में फांसी लगा ली क्योंकि वो तीन चार दिन से लगातार पैसे ना मिलने के कारण परेशान था। अरविंद केजरीवाल ने अभिषेक के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा: मोदी जी, ये देखिए. अब तो इस देश के लोगों पे रहम कीजिए. आख़िर क्या दुश्मनी है आपकी जनता से. ग़रीब की इतनी हाय मत लीजिए.
बाद में पता चला कि बात यह नहीं थी। फांसी पर झूल रहे युवक का नाम धर्मेन्द्र पटेल था। वो बैंक में चोरी करने आया था। इतने में पुलिस आ गई। डर के कारण उसने फांसी लगा ली। सारा घटनाक्रम सीसीटीवी में कैद हुआ। इस मामले में अरविंद केजरीवाल की काफी थू थू हुई थी।

संबंधित समाचार
CM KAMAL NATH के साइबर सेल एक्सपर्ट को दिल्ली पुलिस उठाकर ले गई
ABHISHEK MISHRA की गिरफ्तारी सरकार के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न बनी



-----------

अपनी पसंदीदा श्रेणी के समाचार पढ़ने कृपया नीचे दिए गए श्रेणी के ​बटन पर क्लिक करें

Suggested News

Loading...

Advertisement

Popular News This Week

 
-->