KHARGONE: आधे घंटे तक ऐसे ही लटका रहा मजदूर, पुलिस आई तब उतारी लाश | MP NEWS

Advertisement

KHARGONE: आधे घंटे तक ऐसे ही लटका रहा मजदूर, पुलिस आई तब उतारी लाश | MP NEWS

खरगोन। शहर के बिस्टान रोड स्थित पंचशील कॉलोनी में पुराना मकान तोड़ने व निर्माण के दौरान मंगलवार शाम कारीगर पर छत का छज्जा गिर गया। जिस दीवार का निर्माण कर रहा था उसके बीच गिरे छज्जे में गर्दन दबने से लटक गया। दीवार व छज्जे के बीच आधा घंटा उसका शव हवा में लटका रहा। हादसे में उसके साथ काम कर रहे दो बालक भी मामूली घायल हुए हैं। उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती किया गया।

पंचशील कॉलोनी में जेडी तिवारी के पुराने मकान का जीर्णोद्धार हो रहा था। मजदूर मकान के ऊपरी भाग को ड्रिल मशीन से तोड़ रहे थे। जबकि नीचे से कारीगर मकान की बाउंड्रीवाल बना रहे थे। मंगलवार शाम ऊपरी भाग तोड़ने के दौरान अचानक एक साथ छज्जा गिरा। कुर्सी पर खड़े होकर दीवार बना रहे कारीगर अरबाज असलम (22) निवासी रंगरेजवाड़ी की गर्दन टूटे छज्जे व बन रही दीवार के बीच दब गई। उसकी मौके पर ही मौत हो गई। मलबा उठा रहे मजदूर रिजवान कुतुब (12) निवासी पठानवाड़ी व एक अन्य मलबे की चोट से घायल हो गए।

लापरवाही की जांच शुरू : 
कोतवाली टीआई संजय द्विवेदी मौके पर पहुंचे। ठेकेदार व मकान मालिक की भूमिका की जांच का कहा है। यदि लापरवाही मिलती है तो 304 का मामला दर्ज हो सकता है। इसके अलावा बच्चों को काम कराने को लेकर श्रम विभाग भी कार्रवाई कर सकता है।

परिवार की जिम्मेदारी थी : 
अरबाज के पिता असलम ठेकेदार हैं। उसके दो भाई आदिल व अरशद हैं। इसमें सबसे बड़ा अरबाज ही था। वह चार-पांच साल से कारीगिरी का काम कर रहा था। उसके पिता भी ठेकेदारी का काम करते हैं।