Advertisement

क्या नए साल में शिक्षक और अध्यापकों को प्रतिमाह वेतन मिल सकेगा | EMPLOYEE NEWS



नरसिंहपुर। साल बदल गया नव वर्ष आ गया नई सरकार आ गई नए अधिकारी पदस्थ हो गए नहीं बदला तो केवल विभागीय कार्रवाईयों का पुराना घिसा पिटा ढर्रा। नए साल के अवसर पर बिना वेतन बिना एरियर राशि के भुगतान के शिक्षकों और अध्यापकों का समय कठिनाई में व्यतीत हो रहा हैं। उन्हें अपने बैंक लोन की किस्तें गाड़ी के बैंक लोन की ई एम आई बच्चों के स्कूल की फीस की तारीख आ  आने की चिंता सताए जा रही है। 

बहुतायत की मात्रा में संकुलो के द्वारा अध्यापकों की सेवा पुस्तिकाओं का जिला पंचायत कार्यालय से लेखा अधिकारी के द्वारा वेतनमान निर्धारण का सत्यापन नहीं कराया गया है और विकास खंड शिक्षा अधिकारी डी डी ओ के द्वारा एरियर राशि का भुगतान भी कई अध्यापकों को नहीं हो पाया है जिससे उनकी वित्तीय कठिनाइयों और आर्थिक समस्या बढ़ती ही जा रही है ।इसी प्रकार अतिथि शिक्षकों को भी पिछले 3 महीने से वेतन के बगैर ही गुजारा करना पड़ रहा है अत्यंत अल्प और नाम मात्र के वेतन पर काम कर रहे अतिथि शिक्षकों की पीड़ा को भी संकुल प्राचार्य और विकास खंड शिक्षा अधिकारी नहीं समझ पाते हैं ।जिससे महीनों तक उनका वेतन लटकाया जाता है। 

शिक्षकों और अध्यापकों का कहना है कम से कम उनका वेतन तो शासन के आदेशानुसार नियत 1 तारीख को प्रतिमाह कर दिया जाए और एरियर राशि का भुगतान भी समयबद्ध तरीके से होता रहे तो भी उन्हें संतोष है अन्य अनेकों वित्तीय और सेवा संबंधी कार्यवाहिया स्थानीय जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय की कछुआ गति की कार्यशैली के कारण कई महीनों से लंबित चल रही है ना तो वरिष्ठता सूची का प्रकाशन ही हो पा रहा है ना ही क्रमोन्नति सूचियां जारी होगा क्रमोन्नत वेतनमान पात्रता धारी शिक्षकों का वेतन निर्धारण भी किया जाना बाकी है ऐसी प्रतिकूल परिस्थितियों में भी शिक्षक और अध्यापक से शिक्षण कार्य के अलावा अनेकों गैर विभागीय और अशैक्षणिक बेगारो को लादकर शिक्षको पर जबरन कार्य कराने से शालाओं में शिक्षण की गुणवत्ता प्रभावित हो रही है और विद्यार्थियों को उनका वाजिब शैक्षणिक लाभ प्राप्त नहीं हो पा रहा है। इस ओर जिला कलेक्टरो से कर्मचारियों ने विभाग प्रमुखों की कार्यशैली में सुधार कराने की अपेक्षा की है।

सभी संवर्गों की अद्यतन वरिष्ठता सूची क्रमोन्नत वेतनमान का लाभ सभी प्रकार के एरियर राशि के समय पर भुगतान की कार्यवाही महीनों और सालों तक लंबित रखने से शिक्षक और अध्यापकों का मानसिक और आर्थिक शोषण हो रहा है जिस पर स्थानीय प्रशासन को कड़ाई से  लगाम लगाने की जरूरत है।
सत्य प्रकाश त्यागी जिला सचिव 
मध्य प्रदेश शिक्षक संघ नरसिंहपुर